हैदराबाद : पूर्व मंत्री और कांग्रेस पार्टी के नेता दानम नागेंदर के मकान के पास दस दिन पहले जहर पीकर आत्महत्या का प्रयास कर चुकी महिला की शनिवार को अस्पताल में मौत हो गयी। दानम के मकान में काम करने वाले बहादुर नामक व्यक्ति की चार साल पहले शार्टसर्क्यूट के कारण मौत हो चुकी थी

बता दें कि पूर्व मंत्री दानम के मकान में काम करने वाले बहादुर नामक व्यक्ति की चार साल पहले शार्टसर्क्यूट के कारण मौत हो चुकी थी। तब दानम में बहादुर की पत्नी सीता को आश्वासन दिया था कि मृतक परिवार को मकान के साथ हर संभव सहायता करेंगे।

ये भी पढ़ें :

राजस्थान : मकान में लगी आग, जिंदा जले एक ही परिवार के 5 सदस्य

महाराष्ट्र : भीषण सड़क हादसे में 5 पहलवानों समेत 6 की मौत

इसी क्रम में सीता गत चार सालों से दानम के मकान के चक्कर काट रही है। मगर दानम की ओर से सीता को किसी प्रकार की सहायता नहीं मिली। दानम के आश्वासन पर खरे उतरते न देख सीता ने दस पहले नेता के मकान के सामने जहर पी लिया। स्थानीय लोगों ने बंजारा केयर अस्पताल में भर्ती करवाया।

ये भी पढ़ें :

हैदराबाद में तेज रफ्तार कार डिवाइडर से टकरायी, 1 मरा और 3 घायल

CI पर हमला : MLC श्रीनिवास रेड्डी व अन्य 10 को दो साल कारावार व जुर्माने की सजा

दूसरी ओर उसकी हालत बिगड़ते देख सीता को केयर अस्पताल से निम्स अस्ताल को स्थानांतरित किया गया। दस दिन तक मौत से संघर्ष करने के बाद सीता ने शनिवार को अलस सुबह दम तोड़ दिया। सीता की मौत के बाद परिजन निम्स में आंदोलन पर उतर आये।

इसी बीच में दानम ने बहादुर और सीता के बच्चों के नाम पर पांच लाख रुपये बैंक में डिपाजिट कर दिया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।