मुंबई: ओएनजीसी कर्मचारियों को ले जा रहा एक हेलिकॉप्टर मुंबई के पास क्रैश हो गया। जिसमें सात लोग सवार थे। अभी तक समुद्र से चार शव बरामद किया गया है। बाकी यात्रियों के बचने की कम ही उम्मीद जताई जा रही है। ये हादसा मुंबई तट से करीब 30 नॉटिकल मील की दूरी पर हुआ।

आइस हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हुआ है जो ONGC के नॉर्थ फील्ड की ओर जा रहा था। कोस्ट गार्ड ने पवन हंस कंपनी के इस हेलिकॉप्टर का कुछ कुछ हिस्सा समुद्र में से निकाला है। पंकज गर्ग नाम के शख्स की हादसे में शिनाख्त के बाद मौत की पुष्टि की गई है।

नेवी के लोग राहत और बचाव कार्य में पूरी तरह जुटे हुए हैं। आईएसवी और कोस्ट गार्ड की तीन यूनिटें गोताखोरों की मदद से समुद्र में तलाशी अभियान चला रही है।

जानकारी के मुताबिक हेलिकॉप्टर ने जुहू से सुबह 10 बजकर 20 मिनट पर उड़ान भरी थी। जिसे 38 मिनट बाद वापस लैंड करना था। लैंडिंग के 8 मिनट पहले ही हेलिकॉप्टर का एटीसी से संपर्क भंग हो गया।

ओनजीसी की आधिकारिक जानकारी के मुताबिक हेलिकॉप्टर पर सवार 7 में से 5 लोग ओएनजीसी के कर्मचारी थे। इसके अलावा दो पायलट थे। ये सभी कर्मचारी काम पर जा रहे थे।

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने हादसे को लेकर रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण से बात की। मंत्री ने राहत और बचाव कार्य पर संतोष का इजहार किया।

इस तरह के हादसे पहले भी समुद्र में ओएनजीसी के ऑयल फील्ड तक कर्मचारियों को ले जाने के दौरान हुए हैं।

अरब सागर में साल 2003 में ऐसा ही हादसा हुआ था। जिसमें ओएनजीसी के 23 कर्मचारी मारे गए थे।