नई दिल्ली : पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। शनिवार को ईडी ने कार्ति चिदंबरम से जुड़े दिल्ली और चेन्नई स्थित पांच जगहों पर छापेमारी की।

यह छापेमारी एयरसेल-मैक्सिस डील से जुड़ी कथित अनियमितताओं के सिलसिले में की गई है। प्रवर्तन निदेशालय के पांच अधिकारी सुबह साढ़े सात बजे से ही चिदंबरम के घर पर मौजूद हैं। हालांकि वहां पर कार्ति चिदंबरम मौजूद नहीं थे।

बता दें कार्ति 2007 में आईएनएक्स मीडिया लिमिटेड को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की मंजूरी आसान बनाने में अपनी भूमिका को लेकर जांच का सामना कर रहे हैं। उस दौरान उनके पिता पी. चिदंबरम केंद्रीय वित्तमंत्री थे।

कार्ति पर एफआईपीबी की मंजूरी दिलाने में सहायता के लिए कथित तौर पर मुबंई की आईएनएक्स मीडिया (अब 9एक्स मीडिया) से 3.5 करोड़ रुपये प्राप्त करने का आरोप है। उस दौरान आईएनक्स के संचालक पीटर व इंद्राणी मुखर्जी थे।

यह भी पढ़ें:

SC का कार्ति चिदंबरम को झटका, नहीं जा सकेंगे विदेश

मेरे खिलाफ सीबीआई मामला राजनीतिक द्वेष का नतीजा : कार्ति

ईडी ने चिदंबरम के बेटे कार्ति की 1.16 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की