नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए मंगलवार को कहा कि कांग्रेस पार्टी लंबे समय से 'घृणा और संप्रदायवाद की राजनीति' कर रही है। इससे पहले राहुल गांधी ने बहरीन में कहा था कि भारत में नफरत व बांटने वाली ताकतें बढ़ रही हैं।

भाजपा प्रवक्ता और कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने यहां कहा, "राहुल गांधी हमपर नफरत और आतंक फैलाने का आरोप लगाने के अलावा, कई ऐसी चीजें बोल रहे हैं, जिसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सामान्यत: नहीं कहा जाता है। हम कांग्रेस पार्टी से पूछना चाहते हैं कि राज्यसभा में तीन तलाक पर उनका पक्ष क्या नफरत की राजनीति है या नहीं।"

उन्होंने कांग्रेस पर 'दोहरे मापदंड' अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा, "लंबे समय से कांग्रेस नफरत और साम्प्रदायिकता की राजनीति कर रही है। शाह बानो से लेकर शायरो बानो तक, कांग्रेस ने अपने 31 वर्षो के व्यवहार में कोई बदलाव नहीं किया। कांग्रेस कभी भी कट्टरपंथियों के चंगुल से बाहर नहीं आई और कभी भी महिलाओं की गरिमा के मुद्दे पर सवाल उठाया।"

उन्होंने कहा कि उन्हें(राहुल) भारत की तुलना चीन से करने से पहले 'द इकोनॉमिस्ट' पत्रिका के दिसंबर के अंक की रिपोर्ट को देख लेना चाहिए, जिसमें 'अनुमान लगाया गया है कि भारत वृद्धि के मामले में अगले दो वर्षो में चीन को पछाड़ देगा।'

बहरीन में भारतीय प्रवासियों को संबोधित करते हुए राहुल ने मंगलवार को कहा, "दुखद, हमारे देश में आज के दौर में नौकरियों, स्वास्थ्य सुविधाओं या शिक्षा के बारे में बातचीत नहीं होती। भारत में जिन चीजों पर बातचीत हो रही है वह है, आपको क्या खाने की इजाजत है, किन्हें प्रदर्शन करने की इजाजत है और हम क्या कह सकते हैं और क्या हम नहीं कह सकते हैं।"

उन्होंने कहा कि यह 'दुखद' है कि गरीबी उन्मूलन, रोजगार निर्माण, विश्वस्तरीय शिक्षा प्रणाली जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर ध्यान देने के बदले हम नफरत और बांटने वाली ताकतों को बढ़ता देख रहे हैं।