बेंगलूर : भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने कर्नाटक के पूर्व उप-मुख्यमंत्री और प्रदेश भाजपा के वरिष्ठ नेता आर. अशोक के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। एक सरकारी योजना के तहत सरकारी जमीन के आवंटन में कथित अनियमितता के सिलसिले में यह मामला दर्ज किया गया।

एसीबी ने कहा कि बगैर हुक्म योजना के तहत जमीन आवंटन मामले में अशोक के खिलाफ उसे शिकायत प्राप्त हुई, जिसके आधार पर उसने मामले की छानबीन की।

शुरआती जांच के बाद एसीबी ने अशोक के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 और 120 (बी) और भ्रष्टाचार निरोधक कानून की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया।

एसीबी ने एक प्रेस रिलीज में कहा कि वर्ष 1998 और 2006 के बीच विधायक के तौर पर अशोक ने बगैर हुकुम खेती नियमितीकरण समिति की अध्यक्षता की और इसी अवधि में अनियमितता हुई। विज्ञप्ति के मुताबिक, इस मामले में बेंगलूर दक्षिण तालुक के तहसीलदार रामचंद्रैया, राजस्व निरीक्षक गवी गौडा, चौडा रेड्डी और ग्राम लेखाकार शशिधर को भी आरोपी बना या गया है।

बगैर हुकुम भूमि अनुदान योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे गुजर-बसर करने वाले खेतिहर श्रमिकों को खेती के लिए अधिकतम चार एकड जमीन दी जाती है, बशर्ते उस श्रमिक के पास अपनी कोई जमीन नहीं हो।