लंदन: ब्रिटेन की संसद में पिछले साल जून के आम चुनाव के बाद से पोर्नोग्राफिक वेबसाइटों को देखने की 24,000 से ज्यादा बार कोशिशें की गईं। यह आंकड़ा आधिकारिक तौर पर जारी किया गया है।

द गार्जियन की रिपोर्ट में सोमवार को कहा गया, "संसद के नेटवर्क से जुड़े कंप्यूटर और अन्य डिवाइसों पर साल 2017 के जून से अक्टूबर के बीच पोर्नसाइट देखने की कुल 24,473 बार कोशिशें की गईं, इसका मतलब रोजाना औसतन 160 बार इसे देखने की कोशिशें हुईं।

यह खबर वेस्टमिंस्टर (संसद भवन) में हुए सेक्स स्कैंडल के बाद आई है, जिसमें प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने अपने वास्तविक उप डामियन ग्रीन को हटा दिया था, जब पुलिस को वर्ष 2008 में उनके संसदीय कार्यालय के कंप्यूटरों में मिली पोर्नोग्राफी के बारे में उन्होंने भ्रामक जानकारी दी थी। ये आंकड़े सूचना की आजादी (एफओआई) के अनुरोध के बाद जारी किए गए हैं।

संसदीय अधिकारियों का कहना है कि पोर्नोग्राफी देखने की ज्यादातर कोशिश नाकाम रही। द गार्जियन की रिपोर्ट में कहा गया कि साल 2017 के जनवरी और फरवरी का आंकड़ा संसदीय अधिकारियों ने प्रौद्योगिकी में बदलाव और जिस तरीके से डेटा रखा गया था, उसमें बदलाव के कारण मुहैया नहीं करा पाए।

हालांकि आंकड़ों से पता चलता है कि साल 2017 में मार्च से अक्टूबर के बीच पोर्न देखने की कुल 30,876 बार कोशिशें की गईं।