केपटाउन : पूर्व कप्तान एबी डिविलियर्स ने भुवनेश्वर कुमार के कातिलाना पहले स्पैल में जवाबी हमला करके नाबाद अर्धशतक जमाया जिससे दक्षिण अफ्रीका ने भारत के खिलाफ पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के शुरुआती दिन आज यहां पहले तीन विकेट जल्दी गंवाने के बाद लंच तक तीन विकेट पर 107 रन बनाये।

भुवनेश्वर (नौ ओवर में 39 रन देकर तीन विकेट) ने दक्षिण अफ्रीका के शीर्ष क्रम को झकझोर कर उसके खेमे में सनसनी फैला दी थी। टास जीतकर पहले बल्लेबाजी के लिये उतरे दक्षिण अफ्रीका का स्कोर पांचवें ओवर तक तीन विकेट पर 12 रन कर दिया। इसके बाद डिविलियर्स (नाबाद 59) और फाफ डुप्लेसिस (नाबाद 37 रन) ने चौथे विकेट के लिये 95 रन की अटूट साझेदारी करके टीम को इन झटकों से उबारा।

ये भी पढ़ें :

भुवनेश्वर ने बिगाड़ी दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत

53वें दिन की प्रजा संकल्प यात्रा में जगन की दो बड़ी घोषणाएं, पढ़ें पूरी खबर

कृषि बैंक के प्रमुख वेंकटेश्वर राव के खिलाफ मां-बाप पर हमला करने का मामला दर्ज

डिविलियर्स अपने पूरे प्रवाह में थे क्योंकि उन्होंने 65 गेंदों पर 11 चौके जमाये जबकि डुप्लेसिस ने सकारात्मक अंदाज में बल्लेबाजी की।

भुवनेश्वर ने अपने पहले तीन ओवरों में ही तीन विकेट निकालकर भारत को बेहतरीन शुरुआत दिलायी। उन्होंने मैच की तीसरी गेंद पर ही डीन एल्गर (शून्य) को विकेट के पीछे कैच कराया और अगले ओवर में एडेन मार्कराम (पांच) को अपनी तीखी इनस्विंगर पर पगबाधा आउट किया।

भरोसेमंद हाशिम अमला (तीन) के पास भी भुवनेश्वर की गेंदों का कोई जवाब नहीं था। उन्होंने विकेट के पीछे कैच दिया। भुवनेश्वर का गेंदबाजी विश्लेषण तब तीन ओवर पांच रन तीन विकेट था।

डिविलियर्स ने इसके बाद दक्षिण अफ्रीका को वापसी दिलाने का बीड़ा उठाया और इसके बाद उन्होंने और डुप्लेसिस ने पहले सत्र में टीम को कोई और झटका नहीं लगने दिया। उन्होंने विशेषकर डिविलियर्स ने जवाबी हमले की रणनीति अपनायी और भुवनेश्वर के एक ओवर में चार चौकों की मदद से 17 रन बटोरे। इससे इन दोनों ने केवल 63 गेंदों पर 50 रन की साझेदारी की।

इस बीच डुप्लेसिस को आउट करने का भारत को एक मौका मिला। मोहम्मद शमी की गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर दूसरे स्लिप में कप्तान विराट कोहली के थोडा आगे गिरी थी।

अनुभवी इशांत शर्मा पर तरजीह पाने वाले जसप्रीत बुमराह ने अपने टेस्ट पदार्पण पर शुरू में कुछ अनियमित उछाल हासिल की। उन्होंने अपने पहले स्पैल में दोनों बल्लेबाजों को परेशान किया लेकिन वह भारत को सफलता नहीं दिला पाये।

इसके बाद डिविलियर्स ने 55 गेंदों पर अपना 41वां टेस्ट अर्धशतक पूरा किया जिसमें दस चौके शामिल थे। कोहली ने लंच से पहले भुवनेश्वर को फिर से गेंदबाजी सौंपी लेकिन इससे असर नहीं पड़ा। हार्दिक पंड्या ने भी लंच से पहले एक ओवर किया। दक्षिण अफ्रीका 26वें ओवर में 100 रन के पार पहुंचा।