नलगोंडा (तेलंगना) : तेलंगाना सरकार द्वारा सोमवार से अमलवारी में लायी गयी नि:शुल्क बिजली योजना की आलोचना शुरू हो गयी है। विधानसभा में कांग्रेस पार्टी के उपनेता कोमटिरेड्डी वेंकटरेड्डी ने कहा कि 24 घंटे बिजली से जमीदारों को ही लाभ मिलेगा।

वेंकटरेड्डी ने सोमवार को कैंप कार्यालय में मीडिया से यह बात कही। उन्होंने बताया कि प्रदेश के अधिकारी ही बता रहे हैं कि नि:शुल्क बिजली से सामान्य किसानों को कुछ भी लाभ होने वाला नहीं है।

इससे पहले वेंकटरेड्डी ने जिला पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं के साथ नये साल के संदर्भ में केक काटा और जिले के लोगों को नये साल की बधाई दी।

संबंधित खबर..

किसानों को सातों दिन 24 घंटे फ्री बिजली देने वाला तेलंगाना बना राज्य, नए साल का तोहफा

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि तेलंगाना के छोटे और मध्यम वर्गीय किसान अनेक समस्याओं का सामना कर रहे हैं। रेड्‍डी ने कहा कि नये साल का तोहफा नि:शुल्क बिजली योजना किसानों को मुश्किलों में ढकेलने वाला एक षडयंत्र है।

उन्होंने सवाल किया कि एक एकड़ भूमि में एक करोड़ की फसल उगाने वाले मुख्यमंत्री केसीआर क्या इस षडयंत्र को नहीं जानते हैं?

वेंकटरेड्डी ने सरकार को सुझाव दिया कि 10 घंटे बिजली ही किसानों को काफी है। साथ ही चेतावनी दी कि 24 घंटे बिजली देने से भूगर्भ जल और अंदर चले जाएंगे तथा बोरवेल पूरी तरह से सूख जाने का खतरा है।