हैदराबाद : कांग्रेस पार्टी के नेता रेवंत रेड्डी ने कहा कि आईटी मंत्री के. टी. रामाराव को लड़की देने वाला ससुर पाकाला हरिनाथ राव ने अनुसूचित जनजाति (एसटी) के प्रमाणपत्र पर नौकरी हासिल की है। केटीआर के ससुर हरिनाथ राव ने एक एसटी का हक छीन है।

रेवंत ने मंत्री केटीआर और मुख्यमंत्री केसीआर से सवाल किया कि एक एसटी के हक को छीन लेने वाले व्यक्ति के खिलाफ अब तक किसी प्रकार की कार्रवाई क्यों नहीं गयी है?

रेवंत रेड्डी ने मीडिया को बताया कि केटीआर के ससुर हरिनाथ राव ने एसटी प्रमाणपत्र के आधार पर 35 साल सरकारी नौकरी की है। अब पेंशन भी ले रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री केसीआर सुझाव दिया कि वो इस मामले पर हस्तक्षेप करें और हरिनाथ राव के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करे और लोगों को विश्वास दिलाये कि इनकी सरकार किसी के साथ भी भेदभाव नहीं करती है।

कांग्रेस के नेता रेवंत ने बताया कि हरिनाथ राव के बारे में वो तेलंगाना सरकार से शिकायत की मगर मुख्यमंत्री ने अहब तक किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की है।

रेवंत रेड्डी ने चुटकी लेते हुए कहा कि हमेशा ट्विटर में बयानबाजी करने वाले केटीआर को उनके ससुर की धोखेबाजी घटना दिखायी नहीं देती है? उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री केसीआर अपने समधी को बचाने का प्रयास कर रहे है।

कांग्रेस पार्टी के नेता रेवंत रेड्डी ने चेतावनी दी यदि सरकार इस घटना को लेकर कार्रवाई नहीं करती है तो कांग्रेस पार्टी इस मामले को अदालत में ले जाएगी। कांग्रेस पार्टी इस मामले को आसानी से नहीं छोड़ने वाली है।