वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बड़ी राजनीतिक और न्यायिक जीत हुई है। उनके द्वारा 6 मुस्लिम देशों के नागरिकों के देश में एंट्री को लेकर लगाई गई पाबंदी पर अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने अपनी ओर से मंजूरी दे दी है।

कोर्ट के मुताबिक ट्रैवल बैन को पूरी तरह से लागू किया जा सकता है। बता दें ट्रंप के वीजा बैन को लेकर निचली अदालत में चुनौती दी गई थी। हालांकि सुप्रीम कोर्ट की मंजूरी के बावजूद निचली अदालत में ये सुनवाई जारी है।

सुप्रीम कोर्ट की मंजूरी के बाद कई देशों के नागरिकों को अमेरिकी वीजा नहीं मिलेगा। इनमें शामिल देश हैं, चाड, ईरान, लीबिया, सोमालिया, सीरिया और यमन, नॉर्थ कोरिया।

बता दें कि इसी साल सितंबर में ट्रंप की ट्रैवल बैन पॉलिसी आई थी। जिसका अमेरिका में ही काफी विरोध हुआ था। खासकर वर्जिनिया, सैंन फ्रांसिस्को कोर्ट में इसके खिलाफ अपील की गई थी। इसका विरोध करने वाले लोगों ने सरकार की मंशा पर सवाल खड़े करते हुए कहा था कि मुस्लिमों की देश में एंट्री पर बैन लगाना, अमेरिकी संविधान के खिलाफ है। एक तबके ने इसे देश की सुरक्षा से इतर मामला बताया था।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाड्ल ट्रंप ने देश की सुरक्षा और आतंकी हमलों का हवाला देते हुए एंट्री पर बैन लगाया था। सुप्रीम कोर्ट ने भी सरकार की इस दलील को मानते हुए 7-2 के अंतर से इस फैसले को अपनी मंजूरी दे दी।

सुप्रीम कोर्ट की मंजूरी मिलने के बाद व्हाइट हाउस की तरफ से भी इस बारे में आधिकारिक बयान जारी किया गया है। अमेरिकी सरकार के मुताबिक बैन अब कानूनी रूप ले चुका है। लिहाजा इसे लागू करने में कोई दिक्कत नहीं है।