इलाहाबाद : उत्तर प्रदेश के स्टांप एवं नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने वायरल हुए अपने उस वीडियो पर आज विपक्ष को आड़े हाथ लिया, जिसमें एक कार्यकर्ता को कथित तौर पर उनका पांव दबाते हुए दिखाया गया है। यह वीडियो मंगलवार की देर रात वायरल हुआ।

मंत्री ने बताया कि नगर निगम चुनाव में मेयर पद के लिए किस्मत आजमा रहीं अपनी पत्नी के लिए चुनाव प्रचार के दौरान मोच आने पर किसी कार्यकर्ता ने उसे ठीक करने का प्रयास किया और विरोधी धड़े के किसी शख्स ने यह वीडियो बना लिया।

उन्होंने बताया, नामांकन के दिन से मैं चुनाव प्रचार के लिए प्रतिदिन 10-12 किलोमीटर की पैदल यात्रा कर रहा हूं। पैदल चलते समय मेरे पांव में मोच आ गई और मैं एक रिश्तेदार के घर सो गया। मेरे पैर में तकलीफ देखकर किसी ने मेरे पांव की मोच दूर करने की कोशिश की और विरोधी दल के किसी व्यक्ति ने इसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया।

निवर्तमान महापौर और अपनी पत्नी अभिलाषा गुप्ता के कामकाज को लेकर मंत्री ने कहा, मौजूदा महापौर ने नगर में इतना काम किया है कि विपक्ष को उन्हें हराने का कोई मुद्दा नहीं मिल रहा। यही वजह है कि वे लोग हताश होकर इस तरह की हरकत कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, मायावती सरकार में मंत्री रहते मेरे ऊपर बम से हमला किया गया था, जिससे मेरे हाथ ठीक तरह से काम नहीं करते। यहां तक कि मेरी शर्ट का बटन कोई और लगाता है। गौरतलब है कि पिछले नगर निकाय चुनाव में महापौर के पद पर निर्दलीय जीतने वाली अभिलाषा गुप्ता को इस बार भाजपा ने महापौर पद के लिए अपना प्रत्याशी बनाया है।