लखनऊ : आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर ने आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। यह मुलाकात राम मंदिर विवाद से जुड़ी बताई जा रही है। बता दें कल श्री श्री रविशंकर अयोध्या जाकर राम मंदिर मामले से जुड़े सभी पक्षकारों से मुलाकात करेंगे।

उत्तर प्रदेश सरकार के एक अधिकारी ने बताया, यह दोनों के बीच एक शिष्टाचार मुलाकात थी। बैठक ठीक ठाक रही और करीब 15 से 20 मिनट तक चली। उन्होंने बताया कि जहां तक अयोध्या का मामला है, मुख्यमंत्री जी का रुख पूरी तरह से साफ है। राज्य सरकार इस मामले में पक्षकार नहीं है। सरकार अदालत के हर फैसले का सम्मान करेगी।

गौरतलब है कि 13 नवंबर को श्री श्री रविशंकर ने कहा था वह अपनी ओर से मंदिर विवाद में मध्यस्थता करने 16 नवंबर के अयोध्या जायेंगे और सभी पक्षकारों से मिलेंगे। उन्होंने कहा था, मेरा इस मुद्दे पर कोई एजेंडा नहीं है और अपनी अयोध्या यात्रा के दौरान मैं सभी की बातें सुनूंगा।

इस मामले में उनकी मध्यस्थता को लेकर हालांकि सवाल भी उठ रहे हैं। श्री श्री अपने अयोध्या दौरे के पहले लखनऊ में मुख्यमंत्री से मुलाकात की। प्रतिनिधि के मुताबिक श्री श्री रविशंकर 16 नवंबर को सड़क मार्ग से अयोध्या पहुंचेंगे।

यह भी पढ़ें :

राम मंदिर मसले को सुलझाने के लिए श्रीश्री रविशंकर मध्यस्थता को तैयार

अयोध्या विवाद सुलझाने को लेकर मैं नहीं हूं सरकारी एजेंट -श्रीश्री रविशंकर

अयोध्या विवाद: ‘श्री श्री’ की मध्यस्थता पेशकश पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का ये जवाब

उन्होंने बताया कि हिंदू और मुस्लिम पक्षकारों से मिलकर श्री श्री के अयोध्या दौरे के उद्देश्य के बारे में जानकारी दे दी है। श्री श्री रविशंकर 11 बजे अयोध्या पहुंचेंगे। वह सीधे मणिराम छावनी जाएंगे और राम जन्मभूमि न्यास अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास से मुलाकात करेंगे।

इसके बाद वह न्यास के सदस्य डॉ. रामविलास वेदांती, मस्जिद के पैरोकार स्वर्गीय हाशिम अंसारी के बेटे इकबाल अंसारी से मुलाकात करेंगे।