मुंबई : भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव से सनल ससिधरन की फिल्म 'एस. दुर्गा' और रवि जाधव की 'न्यूड' को हटाए जाने का फैसला लिए जाने से महोत्सव की चयन समिति के सदस्य हैरान हैं।

नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर जूरी के एक सदस्य ने बताया, "हमने सुना कि जिस समय प्रेस रिलीज भेजी गई थी, उसी समय दो फिल्में हटाई जा रही थीं। इसका कारण हमें नहीं पता है।"

जूरी सदस्य ने कहा, "हमने उन्हें पत्र लिखा है। अब हम उनके स्पष्टीकरण का इंतजार कर रहे हैं।"जूरी ने हालांकि, सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मति ईरानी को क्लीन चिट दी है।

जूरी सदस्य ने कहा, "वह इसे सही से करना चाहती थीं। चयन प्रक्रिया में उन्होंने सभी सही कदम उठाए। उन्होंने स्वंय जूरी सदस्यों और समिति के सदस्यों को चुना।"

सदस्य ने आगे कहा, "लेकिन उनके ऊपर भी प्रभावशाली लोग हैं, जिनके सामने उन्हें झुकना पड़ गया होगा, जैसा कि आप जानते हैं कि यह चयन का समय है।" जूरी सदस्य ने बताया कि जब फिल्मों का चयन हो रहा था, उस समय कोई दखलअंदाजी नहीं थी।

उन्होंने कहा कि चयन प्रक्रिया शानदार थी। कोई दखलअंदाजी नहीं थी। एनएफडीसी (नेशनल फिल्म डिवेलपमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया) और डीएफएफ (डायरेक्टरेट ऑफ फिल्म फेस्टिवल्स) काफी ईमानदार हैं।

जूरी सदस्य ने कहा कि फिल्म 'न्यूड' में शायद नग्नता व अश्लीलता ने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को परेशान किया हो, जिसके चलते यह हुआ।

जहां स्मृति ईरानी इस संबंध में टिप्पणी के लिए उपलब्ध नहीं हो सकी, वहीं मंत्रालय के एक करीबी सूत्र ने कहा कि यह अस्थिर समय है। हम कोई जोखिम मोल नहीं ले सकते हैं।