तेहरान: ईरान-इराक सीमा पर कल रात आए 7.3 की तीव्रता वाले भूकंप से दोनों देशों में अभी तक 330 से अधिक लोगों की जान चली गई है।

इरान की सरकारी समाचार समिति ने भूकंप में 328 लोगों के मारे जाने की जानकारी दी। सरकारी टेलीविजन का कहना है कि करीब 3,950 लोग घायल हुए हैं। प्रभावित इलाका ग्रामीण, पहाड़ी क्षेत्र हैं, जहां अधिकतर लोग मुख्य तौर पर खेती पर निर्भर हैं।

ईरान में भूकंप के बाद की स्थिति
ईरान में भूकंप के बाद की स्थिति

इराक गृह मंत्रालय के अनुसार भूकंप से इराक में कम से कम सात लोग मारे गए हैं और अन्य 535 लोग घायल हुए हैं। सभी देश के उत्तरी, अर्द्ध स्वायत्त कुर्द क्षेत्र के हैं।

यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के अनुसार 7.3 की तीव्रता वाले भूकंप का केंद्र इराक के पूर्व में स्थित शहर हलबजा से 31 किलोमीटर की दूरी पर, 23.2 किलोमीटर की गहराई में था।

ईरानी सोशल मीडिया और समाचार समितियों द्वारा दिखाई तस्वीरों एवं वीडियो में लोग घरों से बाहर भागते नजर आ रहे हैं। भूकंप के बाद 100 से अधिक झटके महसूस किए गए। भूकंप का सबसे अधिक प्रभाव केरमानशाह प्रांत में सरपोल-ए-जहब पर पड़ा है। यह जाग्रोस पर्वत पर स्थित है जो ईरान और इराक को बांटता है।

सरकारी मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामेनी ने आज सुबह दुख व्यक्त किया और बचावकर्ताओं तथा सरकारी एजेंसियों से प्रभावित लोगों की हर संभव सहायता करने की अपील की।

अन्य समाचार एजेंसी आईएलएनए ने कहा कि ईरान के कम से कम 14 प्रांत भूकंप से प्रभावित हुए हैं. अधिकारियों ने केरमानशाह और इलम में आज स्कूल बंद रहने की घोषणा की है।

इराक में, प्रधानमंत्री हैदर अल-अब्दी ने देश के सिविल रक्षा दल और संबंधित संस्थानों से तुरंत कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल साद मान ने इराक में हताहत हुए लोगों के आंकड़े मुहैया कराए।