इलाहाबाद : बहुचर्चित आरुषि हत्याकांड में गुरुवार को आये इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले पर तलवार दंपति के वकील ने कहा कि उनके द्वारा रखे गये तर्कों पर गौर किया गया और इस फैसले से उन्हें न्याय मिला।

तलवार दंपति के वकील दिलीप कुमार ने बताया, "इस फैसले से हमें पूर्ण न्याय मिला है। न्यायमूर्ति बीके नारायण और न्यायमूर्ति एके मिश्र की पीठ ने हमें अपना पक्ष रखने का पूरा मौका दिया और हमारे तर्कों पर गहराई से गौर किया।"

उन्होंने दावा किया, "इस मामले में कोई विश्वसनीय साक्ष्य प्रस्तुत नहीं किया गया। अदालत ने संदेह का लाभ देते हुए तलवार दंपति को बरी कर दिया। आदेश की प्रति कल तक अपलोड होने और तलवार दंपति को कल ही रिहा किए जाने की उम्मीद है।"

यह भी पढ़ें :

आरुषि-हेमराज हत्याकांड : हाईकोर्ट से राहत, तलवार दंपति हुए बरी

इससे पूर्व, उच्च न्यायालय ने आरुषि-हेमराज हत्याकांड मामले में अपने महत्वपूर्ण फैसले में सीबीआई की विशेष अदालत के निर्णय को रद्द करते हुए राजेश तलवार और नूपुर तलवार को निर्दोष करार दिया और दोनों को बरी कर दिया।

आरुषि 15 मई, 2008 की रात अपने कमरे में मृत पाई गई थी और उसका गला धारदार हथियार से काटा गया था। शुरुआत में संदेह की सुई हेमराज पर घूमी जो उस समय लापता था, लेकिन दो दिन बाद उसका शव उस मकान की छत से बरामद किया गया था।