नई दिल्ली : हिमाचल प्रदेश में नौ नवंबर को विधानसभा चुनाव कराये जायेंगे और मतगणना 18 दिसम्बर को होगी। चुनाव आयोग ने आज यह घोषणा की। गुजरात विधानसभा चुनावों की घोषणा बाद में की जायेगी।

मुख्य चुनाव आयुक्त ए.के. ज्योति ने संवाददाता सम्मेलन में चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करते हुए कहा कि राज्य की 68 विधानसभा सीटों के लिये एक चरण में नौ नवम्बर को मतदान होगा। मतगणना 18 दिसम्बर को होगी।

उन्होंने बताया कि चुनावों की घोषणा के साथ ही राज्य में चुनाव आचार संहिता लागू हो गयी। उन्होंने स्पष्ट किया कि गुजरात में भी मतदान 18 दिसम्बर के पहले करा लिया जायेगा। हालांकि तारीखों की घोषणा बाद में की जायेगी। मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि हिमाचल में चुनाव प्रक्रिया 16 अक्टूबर को अधिसूचना जारी होने के साथ शुरू हो जायेगी और इसी तारीख से उम्मीदवार अपना नामांकन कर सकेंगे।

हिमाचल प्रदेश में 12वीं विधानसभा के लिये साल 2012 में 20 दिसंबर को चुनाव सम्पन्न हुआ था। उन्होंने बताया कि 13वीं विधानसभा के लिये घोषित चुनाव कार्यक्रम के तहत नामांकन की अंतिम तिथि 23 अक्टूबर होगी। नामांकन वापस लेने की अंतिम तारीख 26 अक्टूबर होगी। इसके बाद नौ नवंबर को मतदान और 18 दिसंबर को मतगणना के बाद राज्य में संपूर्ण चुनाव प्रक्रिया 20 दिसंबर को संपन्न हो जायेगी।

यह भी पढ़ें :

हिमाचल : वीरभद्र के अलावा कौन? कांग्रेस ने नहीं खोले पत्ते

हिमाचल प्रदेश के चुनाव में खूब चलेगा दलित कार्ड, भुनाने में जुटी कांग्रेस-भाजपा

केवल हिमाचल सरकार नहीं, पूरा कांग्रेस नेतृत्व ‘जमानत पर’ : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

मुख्य निर्वाचन आयुक्त ए.के. ज्योति ने बताया कि चुनाव के दौरान फोटो वोटर आईडी का इस्तेमाल होगा। सभी पोलिंग स्टेशन ग्राउंड फ्लोर पर होंगे। सभी पोलिंग स्टेशन पर वीवीपैट ईवीएम मशीनों का इस्तेमाल होगा।

हिमाचल प्रदेश में 7521 मतदान केंद्र होंगे। सभी केंद्रों एवं चुनावी रैलियों की वीडियोग्राफी करवाई जाएगी। हर उम्मीदवार के लिए हलफनामें में सभी कॉलन भरना जरूरी होगा। साथ ही उम्मीदवार चुनाव प्रचार में 28 लाख रूपये खर्च कर सकेगा।