नई दिल्ली : सुजुकी मोटर कॉर्प अपने गुजरात कारखाने में 2.5 लाख इकाइयों की चौथी उत्पादन लाइन लगाने पर विचार कर रही है। इससे इस संयंत्र की कुल उत्पादन क्षमता बढ़कर 10 लाख इकाई हो जाएगी। मारुति सुजुकी के चेयरमैन आर सी भार्गव ने आज यह जानकारी दी।

जापानी कंपनी अपने भागीदारों के साथ गुजरात में प्रस्तावित लिथियम आयन बैटरी उत्पादन संयंत्र लगाएगी।

भार्गव ने कहा, ''सुजुकी के गुजरात कारखाने की पहली ढाई लाख इकाई क्षमता की लाइन पहले ही चालू हो गई है। दूसरी और तीसरी लाइन पर काम चल रहा है जिससे दो-तीन साल में गुजरात संयंत्र की क्षमता बढ़कर 7.5 लाख इकाई हो जाएगी।''

उन्होंने कहा कि इसके अलावा ढाई लाख इकाई सालाना क्षमता की ही चौथी इकाई पर भी विचार चल रहा है। हालांकि, उन्होंने इसका वित्तीय ब्योरा नहीं दिया। गुजरात के हंसलपुर का कारखाना सुजुकी मोटर कॉर्प की पहली पूर्ण स्वामित्व वाली इकाई है।

भार्गव ने कहा कि कंपनी 2020 तक 20 लाख इकाइयों की बिक्री के आंकड़े को हासिल कर लेगी। उसके दो तीन साल बाद हम 25 लाख कारों की बिक्री का आंकड़ा हासिल करेंगे।

उन्होंने कहा कि हमारी इसी तरह की योजना है और हम इस पर फिलहाल निवेश कर रहे हैं। सुजुकी मोटर कॉर्प की अनुषंगी मारति सुजुकी इंडिया फिलहाल अपने हरियाणा के दो कारखानों में सालाना 15 लाख कारों का उत्पादन करती है। लिथियम आयन बैटरी संयंत्र के बारे में भार्गव ने कहा कि यह गुजरात में लगाया जाएगा।

अप्रैल में सुजुकी ने भारत में लिथियम बैटरियों के उत्पादन के लिए तोशिबा कारपोरेशन और डेन्सो के साथ हाथ मिलने की घोषणा की थी। इस पर 20 अरब येन या करीब 1,200 करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा। उस समय जापानी कंपनी ने हालांकि यह नहीं बताया था कि यह कारखाना कहां लगाया जाएगा।