गोरखपुर: बाबा राघवदास मेडिकल कालेज स्थित नेहरु हॉस्पिटल में भर्ती 30 बच्चों की मौत के मामले पर विभिन्न सामाजिक संगठन और राजनीतिक दलों ने मेडिकल कॉलेज परिसर में धरना प्रदर्शन किया। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मेडिकल कालेज पहुंच गये हैं। प्रदर्शन कर रहे लोगों में सपा, बसपा और कांग्रेस के कार्यकर्ता शामिल हैं। प्रदर्शनकारी उक्त घटना में सम्मिलित चिकित्सक, प्रधानाचार्य और अधीक्षक पर हत्या का मामला दर्ज करके इन सबकी गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। वे मृतक बच्चों के परिवारों को 20-20 लाख रपये का मुआवजा देने की भी मांग कर रहे हैं।

जिला प्रशासन ने स्थिति को देखते हुए बडी संख्या में पुलिस बल मेडिकल कालेज परिसर में तैनात कर दिया है। मेडिकल कालेज पहुंचने वाले कांग्रेस के नेताओं में वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर शामिल हैं।

गौरतलब है कि जिलाधिकारी राजीव रौतेला ने कल बताया था कि मेडिकल कालेज में पिछले 48 घंटे में 30 बच्चों की मौत हो गयी थी लेकिन उन्होंने बच्चों की मौत का कारण नही बताया था।

इस बीच उत्तर प्रदेश में गोरखपुर के BRD अस्पताल में 30 बच्चों की मौत के मामले में स्थिति की समीक्षा के लिए राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन शनिवार को शहर के लिए रवाना हुए।

बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में पिछले कुछ दिनों में एंसेफेलाइटिस के कारण कई बच्चों की मौत हो गई। बताया जाता है कि उनके वार्ड में ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं थी।

अधिकारियों के अनुसार, दोनों मंत्री जमीनी स्तर पर स्थिति की समीक्षा करने और इस मामले में एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार करने के लिए शहर के दौरे के लिए रवाना हुए हैं।

दोनों मंत्रियों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संसदीय निर्वाचन क्षेत्र और गृहनगर के लिए रवाना होने से पूर्व उन्हें स्थिति से अवगत कराया।