विशाखापट्टनम: सत्ताधारी तेलुगु देशम पार्टी के नेता पैसे कमाने के लिए हर तरह का हथकंडा अपना रहे हैं। यहां तक की वे किन्नरों को भी नही बख्श रहे है। तेदेपा के एक नेता ने किन्नरों को डरा धमका कर उन पर राज करने लगा और आज वह उनकी कमाई से करोड़पति बन गया है।

घटना के बारे में बताया जाता है कि सुराड़ एल्लाजी नामक व्यक्ति विशाखापट्टनम के 29 वें वार्ड का अध्यक्ष है। इसके अलावा वह विशाखा दक्षिण निर्वाचन क्षेत्र के विधायक वासुपल्ली गणेश कुमार का काफी करीबी है। कई सालों से वह किन्नरों को अपना मोहरा बनाकर उनके जरिये पैसे कमा रहा थाऔर वह धीर-धीरे करोड़पति बन गया।

यदि किन्नर पैसे देने से इंकार करते थे तो उसे प्रताडित करता था। उसने नियम बनाकर रखा था कि एक- एक किन्नर को प्रतिदिन 300 से 1000 रुपये उसे देने होंगे। यहां तक कि लड़को को अपने जाल में फंसाकर नकली किन्नर बनाता था और पैसे कमाने के लिए कहता था। इस तरह इसके पास कुल 300 किन्नर काम करते थे।

आज से दो साल पहले एल्लाजी के अधीन काम करनेवाली अनुषा नामक किन्नर की हत्या कर दी गयी। अनुषा किशोर नामक व्यक्ति के साथ विजयवाड़ा चली गयी। इससे एल्लाजी बर्दाश्त नही कर पाया। कहा जाता है कि एल्लाजी ने न उसका पता लगाया और उसकी हत्या करा दी।

हाल के दिनों में गणेश नामक युवक ने पुलिस से इस बात की शिकायत की कि एल्लाजी ने उसे नशीली दवाई खिलाने के बाद किन्नर का भेष बनाकर फोटो निकालने के बाद उसकी पत्नी को भेजा। इससे उसकी पत्नी उसे छोड़कर मायके चली गयी।

इससे पुलिस ने एल्लाजी को हिरासत में लेकर रिमांड़ पर भेज दिया। बाद में पता चला कि एल्लाजी ने ही अनुषा की हत्या करवाई थी। अब 50 से भी ज्यादा किन्नरों ने इस बात की पुलिस से शिकायत की है कि जेल में बंद एल्लाजी अब भी उन्हे धमकी दे रहा है। खास बात यह है इतना सब कुछ होने के बाद भी एल्लाजी को वार्ड मेंबर पद से नही हटाया गया है।