लखनऊ : राष्ट्रपति चुनाव में आज विधानसभा में कुछ बीमार विधायक एंबुलेंस से वोट डालने पहुंचे। इनमें बहुजन समाज पार्टी के विधायक मुख्तार अंसारी प्रमुख थे। उनके साथ सुरक्षाकर्मियों की भारी भरकम टीम भी थी। वहीं दूसरी ओर कुछ भारतीय जनता पार्टी की महिला विधायक एक साथ टोली बनाकर आयी थी और तिलक हाल में मतदान के बाद ' 'विक्टरी ' ' का निशान बनाकर बाहर निकलीं।
भारी भरकम सुरक्षाकर्मियों के लाव लश्कर के साथ एंबुलेंस से विधानसभा पहुंचे बसपा के मऊ विधानसभा क्षेत्र के विधायक मुख्तार अंसारी ने कहा. 'हमारी पार्टी और हम संप्रग प्रत्याशी मीरा कुमार के साथ हैं क्योंकि यह विचारधारा की लड़ाई
है और हम सब खुलकर मीरा कुमार के साथ हैं। ' चुनाव में क्रॉस वोटिंग होने की संभावनाओं से उन्होंने साफ इनकार किया।
अंसारी के अलावा एंबुलेंस से आने वाले बीमार विधायकों में कानपुर देहात की सिंकदरा सीट के भाजपा विधायक मथुरा प्रसाद पाल, हरैया बस्ती से भाजपा विधायक अजय सिंह भी शामिल हैं। इनमें से पाल और सिंह को व्हील चेयर से वोट डलवाने के लिये तिलक हॉल ले जाया गया।
भारतीय जनता पार्टी की महिला विधायक प्रतिभा शुक्ला, कृष्णा पासवान, कमलेश सैनी, निर्मला संखवार, सरिता भदौरिया तथा कमल रानी एक टोली बनाकर वोट डाल कर तिलक हाल से निकली और सभी विधायक हाथों से 'विक्टरी ' का निशान बनाकर रामनाथ कोविंद की जीत का दावा कर रही थीं।
इनमें से कानपुर और कानपुर देहात जिले की विधायक प्रतिभा शुक्ला, निर्मला संखवार और कमल रानी बेहद खुश हैं। उनका कहना था कि जिले के रहने वाले कोविंद राष्ट्रपति की महत्तवपूर्ण कुर्सी पर बैठने जा रहे हैं। गौरतलब है कि राजग की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद मूलत: कानपुर देहात जिले के रहने वाले हैं,लेकिन इनका एक घर कानपुर शहर में भी है।