भुवनेश्वर: ओडिशा में कम दबाव के चलते भारी बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त है। नागाबालि और कल्याणी नदियां उफान पर हैं और रायगड़ा जिले में कल्याणसिंहपुर मंडल के 12 गांवों को बाढ़ ने अपनी चपेट में ले लिया है। राहत और बचाव के लिए वायुसेना के हेलिकॉप्टर की तैनाती की गई है। करीब 4 टन राहत सामग्री के साथ हेलिकॉप्टर खासकर रायगड़ा जिले में प्रभावितों की मदद कर रहा है। इससे पहले रायगड़ा के ही जिलाधिकारी ने बीती रात वायुसेना से मदद की गुहार लगाई थी।

ओडिशा में बाढ़ के हालात
ओडिशा में बाढ़ के हालात

राहत कार्य में सेना के साथ ही ओडिशा रैपिड एक्शन फोर्स, सीआरपीएफ और अन्य एजेंसियों को लगाया गया है। हेलिकॉप्टर की मदद से लोगों को प्रभावित इलाके से लगातार निकाला जा रहा है। जानकारी के मुताबिक तिरुबेली और सिंगापुर रोड स्टेशन के बीच रेल पुल क्षतिग्रस्त होने की वजह से रेल यातायात बाधित है। इसके अलावा कई जगहों पर सड़क संपर्क टूट गया है।

हालात की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने आला अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की है। साथ ही युद्धस्तर पर तत्काल राहत पहुंचाने का निर्देश दिया है। भुवनेश्वर में बकायदा बाढ़ नियंत्रण कक्ष बनाकर प्रभावित इलाकों की मॉनिटरिंग की जा रही है।



राहत कार्य में जुटे वायुसेनाकर्मी
राहत कार्य में जुटे वायुसेनाकर्मी

मौसम विभाग के मुताबिक अगले दो दिनों तक भारी बारिश की आशंका बनी रहेगी। जिसके चलते लोगों को बाढ़ से तत्काल निजात मिलने की उम्मीद नहीं है। हालात से निपटने के लिए सरकारी कर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। साथ ही मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है।