हैदराबाद: नियम के विरुद्ध सेरोगेसी (किराये पर कोख) किये जाने के मामले खुलासे के बाद साई किरण इन्फर्टिलिटी अस्पताल का लाइसेंस रद्द कर दिया गया है। इस संबंध में डीएमएचओ ने जानकारी दी। डीएमएचओ ने बताया कि अब तक 400 से 500 लोगों के सेरोगेसी किया गया है और इस संबंध में सभी रिकार्ड जब्त कर लिये गये हैं। साईकिरण अस्पताल के मुख्य द्वार पर ताला भी लगा दिया गया है।

अस्पताल में काम करनेवाले चिकित्सकों के बारे में जानकारी देने से एहतियात बरती जा रही है। अस्पताल के भीतर मौजूद लोगों को ना ही बाहर जाने दिया जा रहा है और ना ही बाहर के लोगों को भीतर जाने की अनुमति दी जा रही है। उल्लेखनीय है कि शनिवार रात को टास्कफोर्स पुलिस ने अचानक छापा मारा था। इस दौरान अस्पताल में 48 गर्भवती महिलाएं मौजूद थी। अब इन महिलाओं को आगे क्या करना है समझ में नही आ रहा है।

इन महिलाओं की स्थिति अत्यंत दयनीय हो गयी है। अगले दो दिनों में अस्पताल को सीज़ किये जाने की संभावना है। अधिकारी पहले ही रिकार्ड सीज़ कर चुके हैं।आगे इन महिलाओं के लिए क्या कदम उठाये जाएंगे इस बारे में अभी तक कोई जानकारी नही मिल पायी है।

उल्लेखनीय है कि बंजाराहिल्स रोड नं.14 स्थित साई किरण इन्फर्टिलिटी अस्पताल में अवैध रुप से सेरोगेसी किये जाने की सूचना मिलने के बाद टास्क फोर्स ने अचानक छापा मारा था। इस दौरान 48 गर्भवती महिलाएं अस्पताल में मौजूद थी। इनमें 16 तेलुगु महिलाएं थी।