पटना: लालू प्रसाद के सियासी रसूख के बावजूद उनके बच्चों की बेनामी संपत्ति को आयकर विभाग ने जब्त कर लिया है। बता दें कि महंगी जमीनें लालू के बेटे और बेटियों को गिफ्ट के तौर पर दिए गए थे। जिनका कोई हिसाब किताब पता नहीं चल रहा था। इस पर कार्रवाई करते हुए इनकम टैक्स विभाग ने उन संपत्तियों को जब्त कर लिया है।

इससे पहले लालू यादव की बड़ी बेटी और राज्यसभा की सांसद मीसा भारती को आयकर विभाग ने तलब किया है। उन्हें जुलाई के पहले हफ्ते में आयकर विभाग के दफ्तर में पेश होकर बेनामी लेनदेन पर स्पष्टीकरण देने को कहा गया है।

इससे पहले भी बेनामी संपत्ति को लेकर आयकर विभाग ने लालू के परिजनों को नोटिस दी थी। जिस पर संतोषजनक जवाब नहीं मिलने के कारण विभाग ने ये कार्रवाई की है। बेनामी एक्ट के मुताबिक विभाग को 90 दिन का समय स्पष्टीकरण देने के लिए देना होता है. अगर संबंधित पक्ष इसमें विफल रहता है तो जब्ती और कुर्की की कार्रवाई की जाती है।

गौरतलब है कि मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार को आयकर विभाग ने दो बार समन भेजा लेकिन वे पेश नहीं हुए। उनके वकील ने इसके पीछे मीडिया और सुरक्षा कारणों को वजह बताया। इससे पहले 6 जून को पेश न होने पर आयकर विभाग ने मीसा भारती पर 10 हजार का जुर्माना भी लगाया था। पिछले माह 23 मई को आयकर विभाग ने बेनामी संपत्ति के मामले में लालू यादव और उनके करीबियों से जुड़े 22 ठिकानों पर छापेमारी की थी हालांकि लालू ने छापेमारी की बात से इनकार किया था।