नई दिल्ली : चट्टान तोड़ने वाले उपकरण की आपूर्ति के लिए पुणे स्थित एक निजी कंपनी से 50,000 रुपये कथित तौर पर घूस लेने के आरोप में सीबीआई ने एक कर्नल को गिरफ्तार किया है। जांच एजेंसी ने कंपनी के तीन अधिकारियों को भी गिरफ्तार किया है।

कोलकाता स्थित सेना के पूर्वी कमान की योजना और अभियंत्रण शाखा में तैनात कर्नल शैबल कुमार, पुणे स्थित एक्सटेक इक्वीपमेंट प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक शरत नाथ, कंपनी में निदेशक विजय नायडू, कंपनी के प्रतिनिधि अमित राय को सीबीआई ने गिरफ्तार किया है।

सीबीआई के प्रवक्ता आर के गौड ने आज यहां बताया, ''आरोप है कि कर्नल ने सेना की विभिन्न जमीनी संरचनाओं द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले पावर पैक रॉक स्पिलिटर की आपूर्ति के मामले में कंपनी के प्रबंध निदेशक से 1.80 लाख रुपये घूस की मांग की।''

उन्होंने कहा कि आरोप है कि सैन्य अधिकारी को इस साल फरवरी में कम्पनी से 50,000 रुपये घूस मिली और दूसरी किश्त के तौर पर कर्नल ने आरोपी कंपनी से 50,000 रुपये स्वीकार किया।

उन्होंने कहा, ''सीबीआई ने पुणे से कर्नल को घूस देने के लिए आए पुणे की उस कंपनी के निदेशक का पता लगाया और सैन्य अधिकारी को घूस अदायगी के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। सीबीआई ने कर्नल को गिरफ्तार किया और उनके आवास से घूस की रकम बरामद कर ली।''

सीबीआई ने बताया कि पुणे में चार परिसरों और कोलकाता में दो परिसरों की तलाशी ली गयी।