नई दिल्ली : पहले आप पहले आप की तर्ज पर राष्ट्रपति चुनाव को लेकर भाजपा की कांग्रेस के मन को टटोलने की पहली कोशिश बेकार हो गयी है और सोनिया गांधी के दो टूक जवाब के बाद भाजपा नेताओं ने सोनिया गांधी को आश्वस्त किया कि वह एक बार और कांग्रेस की ओर हाथ बढ़ाएंगे।

वहीं समर्थन के मामले पर कांग्रेस ने सरकार के साथ तब तक सहयोग करने से इनकार कर दिया है, जब तक सरकार राष्ट्रपति पद के लिए किसी उम्मीदवार का नाम पेश नहीं करती।

संबंधित खबरें..

राष्ट्रपति चुनाव में खेला जा रहा है एक दूसरे के खेमे में सेंध लगाने का खेल..जानिए कैसे

इस ‘तुरुप के इक्के’ से मोदी को मात देना चाहती हैं सोनिया..!

राष्ट्रपति के लिए आम सहमति आसान नहीं, संजीव रेड्डी के अलावा सबको लड़ना पड़ा था चुनाव

जैसे ही सरकार के नुमाइंदों राजनाथ सिंह और एम. वेंकैया नायडू ने सोनिया गांधी से पूछा कि राष्ट्रपति के तौर पर आपकी पसंद कौन है.. कृपया बता दीजिए, तो सोनिया का आश्चर्य में पड़ गयीं। गुलाम नबी आजाद और मल्लिकार्जुन खड़गे की तरफ देखने के बाद सोनिया ने जवाब दिया कि हम तो ये सोच रहे थे कि आप लोग नाम बताएंगे।  इस पर राजनाथ और नायडू ने पलटकर कहा कि हम लोगों ने तो अभी तक नाम तय ही नहीं किया।

इसे भी जरूर पढ़ें..

आडवाणी को राष्ट्रपति की दौड़ से बाहर देख विपक्ष हो रहा एकजुट, सोनिया को भरोसा मिलेगी जीत..!

जानिए..कौन कौन हैं राष्ट्रपति पद के दावेदार, शुरू हो गई आधे दर्जन नामों पर चर्चा

सोनिया गांधी ने बताई राष्ट्रपति के लिए अपनी पसंद, ऐसे हों देश अगले राष्ट्रपति व उपराष्ट्रपति

तभी राजनाथ ने कहा कि हम चाहते हैं कि राष्ट्रपति का चुनाव सर्वसम्मति से हो तो  इस पर सोनिया ने जवाब दिया कि बिना नाम के आगे बात कैसे हो सकती है। सहमति व असहमति तो नाम के बाद ही तय होगी।  इस पर सोनिया को इन दोनों नेताओं की ओर से जवाब मिला कि ठीक है आगे आपको नाम तय करके आपसे समर्थन मांगेंगे।

भाजपा के वरिष्ठ मंत्री राजनाथ सिंह और एम. वेंकैया नायडू ने शुक्रवार सुबह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से उनके आवास पर मुलाकात की थी लेकिन इस दौरान उन्होंने उम्मीदवार के नाम का खुलासा नहीं किया।

लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, "वे सहयोग मांग रहे थे, पर उनके दिमाग में जरूर कुछ चल रहा है। इसलिए उन्होंने कोई नाम नहीं सुझाया। जब तक वे नाम का खुलासा नहीं करते, तब तक सहयोग या सहमति की बात बेमानी है।"