वडोदरा : आरएसएस पदाधिकारियों की तीन दिवसीय बैठक गुजरात के सोमनाथ नगर में 15 जुलाई से होगी, जिसमें संगठन को मजबूती प्रदान करने के तरीकों सहित इस पर चर्चा होगी कि आगे क्या कदम उठाया जाना चाहिए।

संगठन के एक प्रवक्ता ने बताया कि आरएसएस के अखिल भारतीय प्रांत प्रचारक की वार्षिक बैठक राज्य के गिर सोमनाथ जिले में रविवार और मंगलवार के बीच होगी।

बैठक में हिस्सा लेने के लिए आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत आज सोमनाथ नगर पहुंच गए। गुजरात आरएसएस प्रवक्ता विजय ठाकर ने कहा, ‘‘बैठक के दौरान इस पर चर्चा होगी कि संगठन को कैसे मजबूती प्रदान की जाए। इसके साथ ही इसमें आरएसएस द्वारा देश के विभिन्न हिस्सों में किये जाने वाले कार्यों और आगे के कदम पर भी चर्चा होगी।''

संबंधित खबरें..

मोहन भागवत बिहार के लोगों को दंगा भड़काने की देकर गए ट्रेनिंग : तेजस्वी

RSS प्रमुख ने फिर उठाया राम मंदिर का मुद्दा, कहा- जहां मंदिर था वहीं बनाएंगे

उन्होंने कहा, ‘‘आज सोमनाथ नगर पहुंचे भागवत इस बैठक में हिस्सा लेंगे। आरएसएस महासचिव भैयाजी जोशी भी इसमें हिस्सा लेंगे और उनके दिन में बाद में सोमनाथ पहुंचने की उम्मीद है।''

उन्होंने कहा कि तीन दिवसीय बैठक में आरएसएस की केंद्रीय कार्यकारिणी समिति के सभी सदस्य, क्षेत्र प्रचारक, प्रांत प्रचारक, जम्मू कश्मीर, पूर्वोत्तर एवं दक्षिण भारत समेत समूचे भारत से आरएसएस के विभिन्न संगठनों के सचिव हिस्सा लेंगे।''

आरएसएस ने अपने प्रशासनिक उद्देश्यों से देश को 12 क्षेत्रों में विभक्त किया है और इन क्षेत्रों को पुन: 39 प्रांतों बांटा गया है।

ठाकर ने बताया कि बैठक में करीब 200 प्रतिनिधियों के हिस्सा लेने की संभावना है। भागवत आज शाम सोमनाथ में आयोजित होने वाली ‘सामाजिक सद्भाव' बैठक की अध्यक्षता करने वाले हैं जिसमें विभिन्न समुदायों से आने वाले लोग बातचीत करेंगे।