पुणे : साधु वासवानी मिशन के प्रमुख एवं आध्यात्मिक गुरू दादा जे पी वासवानी का 99 साल की उम्र में आज निधन हो गया। मिशन की एक सदस्य ने बताया कि उम्र संबंधी बीमारियों के चलते उनका निधन हो गया। मिशन की सदस्य ने कहा, उन्हें पिछले दिनों शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उन्हें कल रात अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी थी। उन्होंने बताया कि वासवानी का आज सुबह मिशन के परिसर में निधन हो गया।

ये भी पढ़ें---

योगी राज में साधु संतों की नाराजगी, अखाड़ों के साधू नहीं करेंगे शाही स्नान

गुजरात की यूनिवर्सिटी ने परमाणु विज्ञान, एयरोस्पेस में शोध का श्रेय साधु-संतों को दिया !

सदस्य ने बताया कि अगले महीने वासवानी का 100 वां जन्मदिन मनाया जाना था जिसके लिए मिशन बड़े समारोह की योजना बना रहा था। दो अगस्त 1918 को पाकिस्तान के हैदराबाद शहर में जन्मे दादा वासवानी पुणे के एक एनजीओ - साधु वासवानी मिशन के प्रमुख थे। यह संस्था सामाजिक और दान - पुण्य संबंधी कार्य करती है।

वासवानी के 99 वें जन्मदिन पर आयोजित समारोह को पिछले साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो लिंक के जरिए संबोधित किया था। इस साल मई में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी उनके मिशन पहुंचे थे। भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी भी अक्सर मिशन आते थे।