नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल गुरुवार को अपने पूर्व सहयोगी व स्वराज इंडिया के प्रमुख योगेंद्र यादव के परिवार के सदस्यों पर छापेमारी के बाद उनके समर्थन में उतर आए। केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बदले की राजनीति को खत्म करने की मांग की।

केजरीवाल ने ट्वीट किया, "हम मोदी सरकार द्वारा आईटी (आयकर विभाग) जैसी एजेंसियों का इस्तेमाल कर योगेंद्र यादव के परिवार को परेशान किए जाने की कड़ी निंदा करते हैं। मोदी सरकार को इस तरह की बदले की राजनीति को बंद करना चाहिए।"

योगेंद्र यादव ने बुधवार को एक साथ कई ट्वीट कर कहा था कि रेवाड़ी में उनकी बहनों द्वारा चलाए जाने वाले अस्पताल में आयकर अधिकारियों ने छापेमारी की है।

ये भी पढ़ें---

दिल्ली के राबिया स्कूल पहंचे केजरीवाल और सिसोदिया,प्रिंसिपल को दी चेतावनी, सरकार करेगी जांच

केंद्र की भाजपा सरकार अधिकारियों को काम करने से रोक रही है : केजरीवाल

उन्होंने कहा, "मोदी शासन अब मेरे परिवार को निशाना बना रहा है। रेवाड़ी में मेरी नौ दिन की पदयात्रा और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) व शराब के ठेकों के लिए आंदोलन शुरू करने के दो दिन बाद रेवाड़ी में मेरे बहनों के अस्पताल सह नर्सिग होम में आयकर की छापेमारी की गई।"

योगेंद्र ने कहा, "कृपया मेरी तलाशी लें, मेर घर की लें। मेरे परिवार को क्यों निशाना बने रहे हैं?"

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा कि दिल्ली के 100 से अधिक अधिकारियों ने बुधवार सुबह 11 बजे अस्पताल पर छापेमारी की और मेरी बहनों, बहनोई व भांजे सहित सभी चिकित्सकों को उनके चेम्बरों में रोके रखा।

योगेंद्र यादव ने कहा, "नवजात शिशुओं के आईसीयू समेत अस्पताल को सील कर दिया गया। यह स्पष्ट तौर पर भयभीत करने का प्रयास था। मोदी जी आप मुझे चुप नहीं करा सकते।"