टीकमगढ़ : बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के तमाम दावे करने वाली मध्य प्रदेश सरकार के लिए यह खबर किसी 'तमाचे' से कम नहीं है। एंबुलेंस के अभाव में एक बेबस बेटे को अपनी मां के शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए बाइक का सहारा लेना पड़ा। यह खबर जैसे ही फैली प्रशासन हरकत में आया और हर बार की तरह जांच के आदेश दे दिए गए।

जानकारी के अनुसार, मामला टीकमगढ़ जिले के मस्तापुर गांव का है। यहां पर कुंवर बाई नाम की एक महिला की मौत सांप कांटने की वजह से हो गई। इसलिए शव के पोस्टमार्टम कराने के बात सामने आई। मृत महिला के बेटे ने शव को ले जाने के लिए कई बार एंबुलेंस सर्विस को फोन किया, लेकिन कोई तैयार नहीं हुआ।

यह भी पढ़ें :

झारखंड : भाई का हाथ बनी अर्थी, रघुवर ‘राज’ में शव ले जाने के लिए भी नहीं मिली एंबुलेंस

UP : दो घंटे तक करती रही एंबुलेंस का इतंजार, महिला ने सड़क पर दिया बच्चे को जन्म

आखिरकार थक-हार कर मजबूर बेटे ने बाइक का सहारा लिया और अपनी मां का शव बाइक पर ही रखकर जिला अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए पहुंच गया। मीडिया में खबर आते ही अधिकारियों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में अपर जिला कलेक्टर ने पूरे मामले के जांच के आदेश दिए हैं।

वैसे बता दें यह पहला मामला नहीं है। देश के अन्य राज्यों में भी ऐसे मामले सामने आए हैं, जहां मजबूरी में लोग कभी कंधे पर तो कभी चारपाई पर शव लेकर अस्पताल पहुंचते हैं।