मुंबई : रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक का परिणाम घोषित होने से पहले आज लगातार तीसरे दिन शेयर बाजार में गिरावट का रुख रहा। मौद्रिक नीति में रेपो दर बढ़ाये जाने की आशंका में कारोबारी बड़े सौदे करने से हिचकिचाते रहे। कमजोर कारोबार में बंबई शेयर बाजार का संवेदी सूचकांक आज 108.68 अंक गिरकर 35,000 अंक से नीचे उतर गया।

शेयर कारोबारियों के मुताबिक आज सुबह जारी पीएमआई सेवा क्षेत्र के आंकड़ों का भी बाजार पर असर रहा। पिछले तीन माह में पहली बार मई में सेवा क्षेत्र की गतिविधियों में गिरावट दर्ज की गई। बहरहाल , मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक आज भी जारी रही। कल इसकी घोषणा होगी। चालू वित्त वर्ष की यह दूसरी मौद्रिक समीक्षा बैठक है।

इससे पहले ब्याज दरों के प्रति संवेदनशील शेयरों में दबाव देखा गया। रीयल्टी, बैंकिंग और आटो कंपनियों के शेयर दबाव में बने रहे। बंबई शेयर बाजार का संवेदी सूचकांक आज पूरे दिन की घटबढ के बाद 108.68 अंक यानी 0.31 प्रतिशत गिरकर 34,903.21 अंक पर बंद हुआ।

कारोबार के दौरान यह नीचे में 34,784.68 अंक तक चला गया था। व्यापक आधार वाला नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी सूचकांक भी आज 35.35 अंक गिरकर 10,593.15 अंक पर बंद हुआ।

कारोबार के दौरान यह ऊंचे में 10,633.15 अंक और नीचे में 10,550.90 अंक के दायरे में रहा। बीएसई का संवेदी सूचकांक पिछले तीन दिन में 419.17 अंक गिर चुका है। शेयर बाजारों द्वारा जारी अनंतिम आंकड़ों के मुताबिक कल घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 712.41 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री की जबकि विदेशी पोर्टफोंलियो निवेशकों ने इस दौरान 2,354.03 करोड़ रुपये के शेयरों की खरीदारी की।

सेंसेक्स में शामिल शेयरों में गिरावट दर्ज करने वालों में कोल इंडिया 2.36 प्रतिशत गिरावट के साथ सबसे आगे रहा। इसके बाद भारती एयरटेल का शेयर 2.16 प्रतिशत गिरा। एल एण्ड टी में 1.93 प्रतिशत, डा रेड्डीज का शेयर 1.87 प्रतिशत, यस बैंक 1.84 प्रतिशत, पावर ग्रिड का शेयर 1.69 प्रतिशत, इन्फोसिस 1.48 प्रतिशत, टीसीएस का शेयर 1.34 प्रतिशत गिर गया।

बढ़त दर्ज करने वालों में रिलायंस इंडस्ट्रीज में सबसे ज्यादा 0.90 प्रतिशत वृद्धि रही। टाटा स्टील में 0.88 प्रतिशत , एचडीएफसी लिमिटेड में 0.78 प्रतिशत, मारुति सुजूकी का शेयर 0.69 प्रतिश्त, एचडीएफसी बैंक का शेयर 0.68 प्रतिशत, हीरो मोटो कार्प का शेयर 0.37 प्रतिशत और स्टेट बैंक का शेयर 0.15 प्रतिशत लाभ में रहा। तेल एवं गैस कंपनियों का सूचकांक 0.10 प्रतिशत ऊंचा रहा।

चीनी कंपनियों के शेयरों में 3.24 प्रतिशत तक की तेजी रही। सरकार की ओर से चीनी मिलों के लिये राहत पैकेज घोषित होने की उम्मीद में यह तेजी आई। धामपुर चीनी मिल का शेयर 3.24 प्रतिशत चढ़ गया। बलरामपुर चीनी मिल्स का शेयर 3.14 प्रतिशत, मवाला शुगर्स का शेयर मूल्य 2.14 प्रतिशत चढ़ गया। अमेरिकी बाजारों की तेजी से यूरोप और एशिया के बाजारों में भी मजबूती का रुख रहा।