लंदन : प्रकृति के नजदीक रहने और बाहर समय बिताने से टाइप-टू मधुमेह, हृदय संबंधित बीमारियां, अकाल मौत और समय से पूर्व जन्म और लोगों में तनाव पैदा होने का खतरा कम होता है। इस अध्ययन में 20 देशों के 29 करोड़ लोगों के आंकड़ों को शामिल किया गया है।

यह भी पढ़ें: 30 साल के बाद भी जवां दिखने की यह है तरकीब, ध्यान दें ये छोटी-छोटी बातें

अध्ययन के अनुसार जहां लोग प्रकृति के ज्यादा नजदीक होते हैं, उनकी सेहत अच्छी होती है। ब्रिटेन के यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्ट एंगलिया काओम्हे तोहिग-बेनेट ने बताया, ‘‘प्रकृति के नजदीक समय बिताने से निश्चित रूप से हम लोग स्वस्थ महसूस करते हैं लेकिन अभी तक लंबे समय तक स्वस्थ रहने के प्रभाव को अच्छे से समझा नहीं गया था।”

यह भी पढ़ें: सावधान! अकेले रह रहे लोगों को हो सकती हैं ये गंभीर बीमारियां

इस अनुसंधान में टीम ने प्रकृति के नजदीक रहने वाले लोगों की तुलना ऐसे लोगों से की जो हरे - भरे जगहों में कम ही रहते हैं। तोहिग-बेनेट ने बताया, “हमने पाया कि हरे-भरे जगहों या इसके नजदीक रहना स्वास्थ्य लाभ से जुड़ा हुआ है। इससे टाइप-टू मधुमेह, हृदय संबंधित बीमारियां , अकाल मौत और समय से पूर्व जन्म सहित अन्य खतरे कम होते हैं और इससे नींद की अवधि बढ़ती है। ”