मुरादाबाद (उप्र) : आंखें अनमोल होती हैं, इसलिए उसका ख्याल भी हमें बखूबी रखना होगा। गर्मी की तेज तपिश और धूप हमारी आंखों को कितना नुकसान पहुंचा सकती है और उससे बचाव में हमें क्या सावधानी बरतनी चाहिए, इस बात को जान लेना हमारे लिए बेहद जरूरी है।

मुरादाबाद जिला नेत्र चिकित्सालय के नेत्र विशेषज्ञ डॉ. गिरिजेश कैन ने इस बदलते मौसम और तेज धूप भरी गर्मी में आंखों के बचाव और उसकी देखभाल के लिए अहम जानकारी साझा की है, जिससे हम अपनी अनमोल आंखों को इस गर्मी में नुकसान पहुंचने से बचा सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

दिल संबंधी समस्याओं से कॉफी, चाय दे सकती है राहत

उन्होंने बताया कि एलर्जिक रिएक्शन में सबसे पहले आंखों में पानी आना, चुभन होना और आंखों में लालपन आना- ये तीन ऐसे लक्षण हैं, जिससे एलर्जी रिएक्शन का पता लगाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि इस मौसम में सबसे ज्यादा मोस्ट कॉमन एलर्जिक कांजेक्टिवआइटिस है जो पूरी तरह एलर्जिक रिएक्शन से होता है।

उन्होंने कहा कि मौसम बदलने की वजह से भी आंखों में एलर्जी हो जाती है। इसके बचाव के लिए सबसे बढ़िया तरीका है कि आंखों को बिल्कुल भी न मलें और पहले ठंडे पानी से धोएं। उसके बाद भी कोई दिक्कत आती है तो इसमें जरा भी लापरवाही न करते हुए नेत्र विशेषज्ञ से राय लें।

यह भी पढ़ें:

चिप आधारित कैंसर परीक्षण पीड़ाजनक बोन बायोप्सी की ले सकता है जगह

भोजन में कार्बोहाइड्रेड ज्यादा लेने से दोबारा कैंसर का खतरा

डॉ. कैन ने बताया कि सूरज की तेज धूप और उसमें से निकलने वाली अल्ट्रा वॉयलेट किरणों से आंखों का बचाव भी बेहद जरूरी है। सूरज की अल्ट्रा वॉयलेट किरणें हमारी आंखों को नुकसान पहुंचा सकती हैं, इसलिए घर से बाहर निकलते समय धूप के चश्मे जरूर पहनें।

उन्होंने बताया कि सन ग्लास जहां धूल के कण को आंखों में जाने से रोकता है, वहीं सूरज की अल्ट्रा किरणों से भी काफी हद तक बचाव करता है तेज धूप से आंखों के बचाव के लिए सिर पर टोपी का इस्तेमाल भी करें। ऐसा करने से सूरज की किरण आपके चेहरे पर पहुंच नहीं बना पाती। साथ ही आपकी आंखों को उसकी किरणों से सुरक्षित रखती है।