नई दिल्ली : भागदौड़ की जीवन शैली और कार्यालय में अधिक कामकाज के कारण परेशान विदेशी पर्यटकों खास तौर पर महिला पर्यटक आयुर्वेद, योग, अध्यात्म , धरोहर, सुफी के सहारे अपना तनाव दूर करने भारत आ रहे हैं। फ्रांस, इस्राइल जैसे देशों के पर्यटकों के लिए हिमाचल प्रदेश आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति एवं योग से तनाव दूर करने का एक प्रमुख पर्यटन स्थल बन गया है।

जापान की पर्यटक इरना इशिकी ने यहां बताया कि अध्यात्म में भारत की पुरी दुनिया में ख्याति है । ऐसे में मन को शांति एवं सुकून के लिये अध्यात्मिक स्थानों की यात्रा एक अलग अनुभव प्रदान करता है । आस्ट्रेलिया की पर्यटक सिल्विया एंड्रोल ने बताया कि मैंने पर्यटन की दृष्टि से भारत में महत्वपूर्ण माने जाने वाले सुफी रूट की यात्रा की । इसमें मांडवा, बिकानेर, जैसलमेर, जोधपुर, जयपुर, आगरा, वाराणसी शामिल है । एक अकेली महिला पर्यटक के रूप में यह यात्रा सुकून प्रदान करने वाली थी ।

अब पर्यटक स्थल के रूप में विकसित होगा केरल का शैल मंदिर और उसका परिसर

खुशखबरी ! अब इस एप के जरीए बिना इंटरनेट से मनोरंजन का आंनद उठा पाएंगे यात्री

महिला पर्यटकों से जुड़ी एजेंसी व्वायेज की निदेशक रश्मि चढ्ढा ने बताया कि भारत में अनगिनत पर्यटन स्थल हैं। देश में कोई भी ऐसा राज्य नहीं है, जहां महत्त्वपूर्ण रमणीय स्थल न हों। दुनिया भर में अकेली महिला पर्यटकों का चलन काफी तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में हमने भारत में इस दिशा में पहल की है ।

उन्होंने कहा कि हम महिला पर्यटकों खास तौर पर विदेशों से भारत आने को इच्छुक महिला पर्यटकों के लिये विशेष सुविधा प्रदान कर रहे हैं । इस दिशा में हमने आध्यात्मिक एवं धरोहर पर्यटन, योग पर्यटन, फैशन टूर, सुफी मार्ग पर्यटन को बढ़ावा दे रहे हैं । हम खास तौर पर महिला गाइड, महिला अनुवाद आदि की व्यवस्था करते हैं । आस्ट्रेलिया की पर्यटक क्लेयर गेवुड ने कहा कि अकेली महिला पर्यटक के रूप में भारत के कुछ महत्वपूर्ण स्थलों की यात्रा करना आनंददायक रहा ।