बोस्टन : अनुसंधानकर्ताओं ने एचआईवी के उपचार के लिए एक ऐसा कैप्सूल बनाया है जिसकी एक खुराक लेने के बाद पूरे एक सप्ताह कोई और दवा नहीं लेनी पड़ेगी।

अनुसंधानकर्ताओं ने बताया कि एचआईवी विषाणु से लड़ने के लिए ली जाने वाली दवा की खुराक को निश्चित समय पर लेना आवश्यक होता है जिसका पालन करना आसान नहीं होता। ऐसे में इस कैप्सूल विकसित होने से मरीजों को काफी राहत मिलेगी।

इस नए कैप्सूल को अमेरिका के मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) के अनुसंधानकताओं ने विकसित किया है। इसे इस तरह बनाया गया है कि मरीजों को सप्ताह में केवल एक बार इसे लेना होगा और सप्ताह भर में दवा धीरे धीरे शरीर में जाती जाएगी।

अनुसंधानकर्ताओं ने बताया कि यह कैप्सूल केवल एचआईवी के उपचार में ही मददगार नहीं है, बल्कि यह उन लोगों को भी संक्रमण से बचाने के लिए लिया जा सकेगा जिनके एचआईवी से संक्रमित होने का खतरा अधिक है।

गूगल ने हर सेकेंड बेचा एक होम स्मार्ट स्पीकर

सैमसंग ‘गैलेक्सी ऑन’ जल्द होगा लॉन्च, जानिए कीमत और क्या हैं फीचर्स

टोयोटा की घरेलू बिक्री 15 प्रतिशत घटी

एमआईटी में एक अनुसंधानकर्ता और ब्रिघम एंड विमेन्स हॉस्पिटल में बॉयोमेडिकल इंजीनियर जियोवान्नी त्रावेरसो ने कहा, एचआईवी के उपचार के लिए समय पर खुराक लेना एचआईवी की उपचार एवं रोकथाम में एक बड़ी बाधा है। उन्होंने कहा कि इस कैप्सूल से इस बाधा को दूर में काफी मदद मिलेगी।

इस कैप्सूल की बनावट छह कोनों वाले एक सितारे की तरह है। इन कोनों में दवा भरकर इन्हें अंदर की ओर मोड कर बंद किया जा सकता है। कैप्सूल खाने के बाद इन कोनों में से एक एक करके दवा निकलती रहेगी।

त्रावेरसो ने कहा, यह एक कैप्सूल में दवाइयों का डिब्बा रखने की तरह है। अब आपके पास एक कैप्सूल में सप्ताह के हर दिन के लिए चैंबर है।