नई दिल्ली : स्तन कैंसर के प्रति जागरूकता लाने के लिए ऐतिहासिक कुतुब मीनार के पास हेरिटेज वॉक का आयोजन किया गया जिसमें विभिन्न तबके के 250 से ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया।

स्ट्रांड लाइफ साइंसेस और चीयर्स टू लाइफ फाउंडेशन ने 'स्प्रेड पिंक स्प्रेड करेज' अभियान के लिए 'हेरिटेज वॉक फॉर ए कॉज' का आयोजन शनिवार को किया और लोगों को इस बीमारी के प्रति जागरूक किया।

चीयर्स टू लाइफ फाउंडेशन की संस्थापक एवं प्रेसिडेंट डिंपल बावा ने कहा, "चीयर्स टू लाइफ फाउंडेशन का पहला फोकस स्तन कैंसर के प्रति जागरूकता बढ़ाना है। हेरिटेज वॉक फॉर ए कॉज का यह दूसरा संस्करण मरीजों तथा कैंसर पर विजय पाने वालों की हिम्मत को सम्मानित करते हुए इस समस्या की गंभीरता पर प्रकाश डालना था।"

स्ट्रांड लाइफ साइंसेस के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक डॉ. विजय चंद्रू ने कहा, "स्तन कैंसर भारत की महिलाओं के लिए सबसे बड़ा खतरा है। हर साल स्तन कैंसर से पीड़ित महिलाओं की संख्या बढ़ रही है। आज जरूरत है कि लोगों को इस बारे में शिक्षित किया जाए कि वे इस बीमारी का सामना कैसे करें और इसके इलाज के लिए सर्वश्रेष्ठ मेडिकल विकल्पों का लाभ किस प्रकार उठाएं।"

शोध में पता चला है कि स्तन कैंसर तथा ओवेरियन कैंसर सर्वाधिक दर्ज किए गए अनुवांशिक कैंसर हैं और कैंसर से होने वाली मौतों के सबसे बड़े कारणों में से एक हैं। भारत में कैंसर के नए मामलों से हाने वाली मौतों की संख्या का अनुपात 48.3 प्रतिशत था, जो अमेरिका में 18.9 प्रतिशत तथा यूरोपियन यूनियन में 25.4 प्रतिशत के मुकाबले बहुत ज्यादा था।

2020 तक लगभग 76,000 महिलाओं का स्तन कैंसर की वजह से जान गंवाने का खतरा है। इसलिए इस माह कैंसर मरीजों के बीच कैंसर पर विजय पाने की भावना को बढ़ावा देने के लिए डिजिटल तथा ऑनग्राउंड अभियान चलाया जा रहा है।