ताजमहल के दिवाने हर देश में पाए जा सकते हैं। दुनिया के सात अजुबों में से एक, ताजमहल देखने के लिए आगरा में दुनिया भर से लोग आते हैं। कई देशों ने ताजमहल का प्रतिरूप बनाने की कोशिश की है। ब्रिटन, अमरिका इन देशों में भी ताजमहल का प्रतिरूप बनाया गया हैं। भारत का पडोसी देश बांग्लादेश में भी एक ताजमहल है।

यह प्रतिरूप बांग्लादेश की राजधानी ढाका से लगभग २९ किमी की दूरी पर स्थित सोनारगाँव में है। बांग्लादेश के फिल्म प्रोड्युसर अहसानुल्लाह मोनीने अपने गांव में इसका निर्माण किया। बांग्लादेश में कई गरीब लोग हैं जो भारत में जाकर असली ताजमहल नहीं देख पाते।

उनका यह सपना अधुरा रह जाता है। इसलिए उन्होंने अपने गांव में ही इसे बनवाया। इसे देखने के लिए 50 टाका फीस रखी गयी है। दिनभर में कम से कम 20,000 लोग इसे देखने के लिए आते हैं ऐसा मोनी का कहना है। इस भवन के निर्माण में पाँच वर्ष लगे और इस पर 5.8 करोड़ डॉलर खर्च किए ऐसा दावा मोनी करते है।