अमृतसर : मानवता की सेवा के लिए सिख समुदाय द्वारा गुरुद्वारे में वर्षों से मुफ़्त में लंगर कराता रहा है ताकि जरूरतमंदों को भोजन मिल सके। सिख समुदाय की यह पहल दुनियाभर में जाति, धर्म और अन्य सामाजिक भेदभाव से ऊपर उठकर मानवता के लिए समर्पित है।

अमृतसर के स्वर्ण मंदिर गुरुद्वारे में वर्षों से फ्री लंगर की व्यवस्था है। यह दुनियाभर में मशहूर है, जहां प्रतिदिन लाखों लोग मुफ्त में भोजन करते हैं। इस बार एक गुरुद्वारे ने मानवता की सेवा के लिए एक कदम आगे बढ़ाते हुए मोबाइल लंगर की शुरुआत की है। इस मोबाइल लंगर से गरीबों, जरूरतमंदों, राहगीरों, मजदूरों, ड्राइवरों को भोजन कराया जा रहा है।

हाल ही में मशहूर कॉमेडियन अतुल खत्री ने अमृतसर हवाई अड्डे के पास एक ऐसे ही मोबाइल लंगर को देखा। पहले तो उन्हें भरोसा नहीं हुआ कि इस हाई सिक्योरिटी जोन में कोई हॉकर कैसे पहुंच गया लेकिन जब वहां पहुंचे तो पता चला कि यह फ्री मोबाइल लंगर है, जो नजदीकी गुरुद्वारे की ओर से लगाया गया था।

उन्होंने देखा कि एक शख्स ठेला रिक्शा पर बड़े-बड़े बर्तन में भोजन लेकर आया है और वहां से गुजर रहे ड्राइवर और अन्य जरूरतमंद को भोजन परोस रहा है। उन्हें बताया गया कि यह मोबाइल लंगर शहर के अलग-अलग हिस्सों में भी जाता है और गरीबों को भोजन कराता है।

मोबाइल लंगर चलाने वाले शख्स ने बताया कि जो लोग दिहाड़ी मजदूरी पर काम करते हैं और ठीक से दो वक्त का भोजन भी नहीं कर पाते हैं, उन्हें ध्यान में रखकर इस मोबाइल लंगर की शुरुआत की गई है ताकि उनके शहर में कोई भी भूखा न रहे। इस लंगर में भोजन करने वालों में सबसे ज्यादा गार्ड, ड्राइवर, मजदूर शामिल हैं। इस लंगर में करीब एक हजार लोग भोजन करते हैं।

गौरतलब है कि सिख समुदाय द्वारा कई बार आपदा प्रभावित इलाकों में भी पैकेज्ड भोजन भेजने की व्यवस्था की गई है। अभी हाल ही में खबर आई थी कि स्वर्ण मंदिर ने ऑरगेनिक सब्जियों से बनी सब्जी लंगर में परोसने की शुरुआत की है ताकि लोगों को शुद्ध खाना मिल सके।