संयुक्त राष्ट्र : अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) से अलग होने का ऐलान किया है, जिस पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने खेद जताया। गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक ने बताया, "महासचिव का मानना है कि यदि अमेरिका यूएनएचआरसी में बना रहता तो अच्छा होता।"

उन्होंने कहा, "संयुक्त राष्ट्र की इस मानवाधिकार संस्था का दुनियाभर में मानवाधिकारों की सुरक्षा और इसे बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका है।"

यह भी पढ़ें :

ग्वाटेमाला ज्वालामुखी विस्फोट : गुटेरेस ने मृतकों के प्रति संवेदना जताई

इससे पहले संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली ने वाशिंगटन के इस संस्था से अलग होने का ऐलान करते हुए इसे 'पाखंडी' और 'स्वयंसेवी' बताया था, जो मानवाधिकारों का मखौला उड़ाती है।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, हेली ने पिछले साल परिषद पर इजरायल विरोधी रुख अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा था कि अमेरिका इसकी सदस्यता की समीक्षा कर रहा है।