Mon May 22, 2017 Telugu English E-Paper Education
ब्रेकिंग न्यूज़
चुनाव आयोग ने हाल में चुनाव वाले पांचों राज्‍यों के सीईओ से ईवीएम भेजने को कहा
राधा मोहन सिंह को मिला उपभोक्‍ता मामलों, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय का मिला प्रभार  
एवरेस्‍ट पर चढ़ने के बाद गायब भारतीय रवि कुमार मृत पाए गए, वापसी में गिरने से हुई मौत
एयर इंडिया की भुवनेश्वर की फ्लाइट के कॉकपिट में लगी संदिग्ध आग, सभी सुरक्षित
दो दिन के दौरे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात पहुंचे

गेस्ट कॉलम



हिंदू व मुस्लिम पत्नियों ने एक-दूसरे के पति को दी किडनी
गेस्ट कॉलम

हिंदू व मुस्लिम पत्नियों ने एक-दूसरे के पति को दी किडनी

मानवता किसी सीमा के बंधन में नहीं बंधती, इस बात का एक बार फिर प्रमाण मिला है। दो हिंदू और मुस्लिम महिलाओं ने एक-दूसरे के पतियों को अपनी किडनियां दान देकर नई जिंदगी दी है।ग्रेटर नोएडा के रहने वाले इकराम (29) और बागपत के रहने वाले राहुल वरिष्ठ (36), दोनों को किडनी की जरूरत थी।



तीन तलाक को खत्म किया जाना चाहिए : शबाना आजमी
गेस्ट कॉलम

तीन तलाक को खत्म किया जाना चाहिए : शबाना आजमी

अभिनेत्री और कार्यकर्ता शबाना आजमी ने आज कहा कि तीन तलाक अमानवीय है और यह हर मुस्लिम महिला के मूलभूत अधिकारों का उल्लंघन करता है। मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों की रक्षा करना सरकार का दायित्व है और तीन तलाक प्रणाली को खत्म करने के मुद्दे पर कोई दो राय नहीं होनी चाहिए।



दुनियाभर में ह्दय संबंधी रोगों से होती है एक तिहाई मौतें
गेस्ट कॉलम

दुनियाभर में ह्दय संबंधी रोगों से होती है एक तिहाई मौतें

हाल के एक ताजा अध्ययन ने हृदय रोगों के संबंध में चेतावनीपूर्ण खुलासा किया है। अध्ययन के मुताबिक, दुनियाभर में होने वाली हर तीन में एक मौत दिल संबंधी रोगों (सीवीडी) की वजह से होती है।

एचआईवी संक्रमित महिलाएं रख सकती हैं गर्भस्थ शिशु को सुरक्षित
गेस्ट कॉलम

एचआईवी संक्रमित महिलाएं रख सकती हैं गर्भस्थ शिशु को सुरक्षित

एचआईवी अब मातृत्व के लिए श्राप नहीं रह गया है। बशर्ते महिलाओं को यह पता हो कि वे इससे संक्रमित हैं। आधुनिक चिकित्सा पद्धतियों ने मां के एचआईवी संक्रमण से उसके गर्भ में पल रहे बच्चे का बचाव करना मुमकिन कर दिया है। इसलिए एक गर्भवती महिला को मातृत्व का आनंद लेने के लिए एचआईवी की जांच भी जरूर करवा लेनी चाहिए।

 कश्मीरी छात्रों की किस्मत बदलने का बीड़ा IIT छात्रों ने उठाया  
समाचार

कश्मीरी छात्रों की किस्मत बदलने का बीड़ा IIT छात्रों ने उठाया  

कश्मीर में सिर्फ पत्थरबाज ही नहीं, बल्कि देश के शीर्ष संस्थानों में अपनी कामयाबी का झंडा गाड़ने को आतुर मेधावी छात्र भी रहते हैं, जिनके भीतर हर वक्त कुछ कर गुजरने का जज्बा होता है।

UP सरकार का रिपोर्ट कार्ड : योगी में है दम...पर अपराध क्यों नहीं हुए कम..!
गेस्ट कॉलम

UP सरकार का रिपोर्ट कार्ड : योगी में है दम...पर अपराध क्यों नहीं हुए कम..!

पूर्व सीएम अखिलेश यादव की तरह सीएम योगी आदित्यनाथ भी फेल होते जा रहे हैं। यदि यही हाल रहा तो यूपी सरकार को तगड़ा झटका लग सकता है। सीएम योगी ने 100 दिन पूरा होने पर सरकार का रिपोर्ट कार्ड जारी करने की बात कही है, लेकिन वर्तमान में जो स्थिति है, उससे सीएम योगी की परेशानी बढ़ सकती है।



ज्यादा उम्र में मां बनना गलत नहीं (मातृ दिवस पर विशेष)
गेस्ट कॉलम

ज्यादा उम्र में मां बनना गलत नहीं (मातृ दिवस पर विशेष)

अधिक उम्र में मां बनने पर महिलाओं को कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है, लेकिन चिकित्सकों का कहना है कि 40 या इससे अधिक उम्र में मां बनना गलत विचार नहीं है।

जनता अब नहीं करेगी आंदोलनों पर विश्वास..!
गेस्ट कॉलम

जनता अब नहीं करेगी आंदोलनों पर विश्वास..!

अन्ना आंदोलन में दिल्ली के रामलीला मैदान से लेकर सड़कों तक ऐतिहासिक जन समुद्र उमड़ पड़ा था, विद्यार्थी, प्रोफेशनल्स, एनआरआई का सैलाब था। मीडिया और सोशल मीडिया की पहुंच ने देश के हर नागरिक को आंदोलन से जोड़ दिया था। वातावरण पूर्णतः परम्परागत राजनीति से अलग था।



रोमानिया में 11वीं कक्षा में पढ़ाये जाते हैं रामायण, महाभारत के अंश
समाचार

रोमानिया में 11वीं कक्षा में पढ़ाये जाते हैं रामायण, महाभारत के अंश

भारत और रोमानिया के बीच बेहद करीबी और मजबूत संबंधों को रेखांकित करते हुए रोमानिया के राजदूत राडू ओक्टावियन डोबरे ने बताया कि दोनों देशों के करीबी सांस्कृतिक संबंध हैं और इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हमारे यहां 11वीं कक्षा में बच्चों को रामायण और महाभारत के अंश पढाये जाते हैं।

 राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की कोई सानी नहीं
गेस्ट कॉलम

राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की कोई सानी नहीं

देश में बरसों से कई फिल्म पुरस्कार समारोह होते रहे हैं। उनमें से कुछ में बड़े-बड़े सितारों की मौजूदगी और उनके द्वारा प्रस्तुत देर रात तक चलने वाले रंगारंग कार्यक्रम ऐसे समारोह को लोकप्रिय भी बनाते हैं।

मौत की सजा दुष्कर्म रोकने का हल नहीं
गेस्ट कॉलम

मौत की सजा दुष्कर्म रोकने का हल नहीं

निर्भया मामले के दोषियों को फांसी देने से क्या दुष्कर्म जैसे घिनौने अपराधों से मुक्ति मिल जाएगी? यही वो सवाल है जो बार-बार मन को करौंदता है। निर्भया के दोषियों पर सजा मुकर्रर हो चुकी है।

चुनावों को एकसाथ कराने से जुड़ा है संघीय ढांचे का सवाल
समाचार

चुनावों को एकसाथ कराने से जुड़ा है संघीय ढांचे का सवाल

भारतीय लोकतंत्र के अलग-अलग हिस्सों में बड़े बदलावों के संकेत मिल रहे हैं। कई चीजें जिनके बारे में महज कुछ साल पहले तक सोचा भी नहीं जा सकता था, वे साक्षात घटित हो रही हैं। लोकतंत्र के बुनियादी स्वरूप में फेरबदल की कवायद शुरू हो चुकी है।



मई दिवस: श्रमिकों की बेहतरी के लिए अच्छी नीतियों की जरूरत - सोनिया
गेस्ट कॉलम

मई दिवस: श्रमिकों की बेहतरी के लिए अच्छी नीतियों की जरूरत - सोनिया

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सोमवार को कहा कि श्रमिकों की स्थिति ‘सिर्फ बातों, नारों और वादों से नहीं बदलेगी।’ सरकार को इनके जीवन में बदलाव लाने के लिए नई नीतियां और बेहतर योजनाएं लानी होंगी।



‘आरएसएस सरकार’ प्रगतिशील लेखकों को कभी स्वीकार नहीं करेगी : नयनतारा सहगल
गेस्ट कॉलम

‘आरएसएस सरकार’ प्रगतिशील लेखकों को कभी स्वीकार नहीं करेगी : नयनतारा सहगल

भारत की नारीवादी लेखिकाओं में से एक नयनतारा सहगल ने अपना साहित्य अकादेमी पुरस्कार 2015 में देश में असहिष्णुता बढ़ने के मुद्दे पर लौटा दिया था। यह पूछे जाने पर कि क्या वह सरकार से फिर से कोई सम्मान स्वीकार करेंगी? उन्होंने कहा, ‘कभी नहीं।’



चंदन गीतों के जरिए बांट रहीं गांधी के संदेश
गेस्ट कॉलम

चंदन गीतों के जरिए बांट रहीं गांधी के संदेश

अपनी लोक गायकी से देश-दुनिया में ख्याति पा चुकीं गायिका चंदन तिवारी गांधी के चंपाराण सत्याग्रह के 100 वर्ष पूरे होने पर गीतों के माध्यम से गांधी के संदेश और उनके विचार युवाओं तक पहुंचाने की कोशिश में लगी हैं। उनकी ‘गान्ही जी’ श्रृंखला को लोग खूब पसंद भी कर हे हैं।



सबको रुलाकर चले गए ‘दयावान’ (श्रद्धांजलि : विनोद खन्ना)
गेस्ट कॉलम

सबको रुलाकर चले गए ‘दयावान’ (श्रद्धांजलि : विनोद खन्ना)

अपने अलग अंदाज और दबंग आवाज के लिए पहचाने जाने वाले विनोद खन्ना का जन्म 6 अक्टूबर,1946 को पेशावर (अब पाकिस्तान) में हुआ था। वर्ष 1947 में देश बंटवारे के बाद उनका परिवार मुंबई आकर बस गया। उनके माता-पिता का नाम कमला और किशनचंद खन्ना था। उनका जन्म एक व्यापारी परिवार में हुआ।

 छत्तीसगढ़ हिंसा जंगल लूटने और बचाने वालों के बीच जंग का परिणाम: हिमांशु
समाचार

छत्तीसगढ़ हिंसा जंगल लूटने और बचाने वालों के बीच जंग का परिणाम: हिमांशु

छत्तीसगढ़ में आदिवासियों के बीच वर्षों तक काम कर चुके सामाजिक कार्यकर्ता हिमांशु कुमार का मानना है कि छत्तीसगढ़ में हिंसा की मूल वजह संसाधनों (जंगल) को लूटने और बचाने की जंग है।



‘बरगद’ के चित्रों में झलका प्राकृतिक सौंदर्य
गेस्ट कॉलम

‘बरगद’ के चित्रों में झलका प्राकृतिक सौंदर्य

नई दिल्ली में शुरू हुई कला प्रदर्शनी में संरक्षण, कलातीत एवं सभ्यागत पुरातनता का प्रतीक माने जाने वाले बरगद के वृक्ष को लेकर बनाई गई चित्रकार अपर्णा बिडसारिया की विचारोत्तेजक पेंटिंग्स की एक श्रंखला से रूबरू हुआ जा सकता है।



‘एफडीआई के लिये प्रमुख गंतव्य बनने की ओर बढ़ रहा है भारत’
समाचार

‘एफडीआई के लिये प्रमुख गंतव्य बनने की ओर बढ़ रहा है भारत’

भारत युवा कुशल कार्यबल, उच्च वृद्धि दर तथा सरकार द्वारा विभिन्न क्षेत्रों को नियंत्रण मुक्त किये जाने से विदेशी निवेश के लिये एक महत्वपूर्ण गंतव्य बनने को पूरी तरह तैयार है। यह बात अमेरिका के पूर्व शीर्ष व्यापार अधिकारी ने कही।

सरकारी स्कूलों से निजी स्कूलों में जा रहे विद्यार्थी : अध्ययन
समाचार

सरकारी स्कूलों से निजी स्कूलों में जा रहे विद्यार्थी : अध्ययन

देश के 20 राज्यों में पिछले पांच वर्षो के दौरान सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या में 1.3 करोड़ की कमी आई है, जबकि दूसरी ओर निजी स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या में 1.7 करोड़ का इजाफा हुआ है।

 लखीमपुर : सांप्रदायिकता की चपेट में आया उप्र का एक शांत शहर  
गेस्ट कॉलम

लखीमपुर : सांप्रदायिकता की चपेट में आया उप्र का एक शांत शहर  

उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े जिले लखीमपुर-खीरी के मुख्यालय पर हिंदू बहुल इलाके में सलीम सिद्दीकी (65) मोटरसाइकिल की मरम्मत का कार्य करते हैं। सलीम का मानना है कि एक महीने पहले हुए सांप्रदायिक विवाद से ऐसा लगता है मानों शहर की मासूमियत कहीं खो गई है।



गुजरात के छोटे से गांव की कला दुनियाभर में मशहूर
समाचार

गुजरात के छोटे से गांव की कला दुनियाभर में मशहूर

मौजूदा दौर में जहां कई पारंपरिक शिल्प अपना अस्तित्व बचाने के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर गुजरात के कच्छ में बसा अज्रखपुर नामक छोटा सा गांव घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय खरीदारों को अपने प्राकृतिक चटख रंगों से रंगे ब्लॉक प्रिट कपड़ों से लुभा रहा है।



‘नवग्रह कुआं’ बना आस्था का केंद्र
गेस्ट कॉलम

‘नवग्रह कुआं’ बना आस्था का केंद्र

आपने वैसे तो कई कुओं की पूजा होती देखी होगी, लेकिन बिहार के वैशाली जिला मुख्यालय हाजीपुर में एक ऐसा कुआं भी है, जहां लोग नौ ग्रहों के प्रभाव से शांति के लिए पूजा करने आते हैं।मान्यता है कि इस कुआं में मात्र स्नान करने और इसका जलग्रहण करने से ही सभी ग्रहों के दोष दूर हो जाते हैं। यही कारण है कि इस कुएं को लोग ‘नवग्रह कुएं’ के नाम से जानते हैं।



गर्मियों में घने सुनहरे बालों के लिए अपनाएं घरेलू उपाय
गेस्ट कॉलम

गर्मियों में घने सुनहरे बालों के लिए अपनाएं घरेलू उपाय

हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब के अनुसार, बाजार में मिलने वाले रासायनिक उत्पाद कुछ समय के लिए तो बालों को चमकदार बनाए रखने में मददगार साबित हो सकते हैं, पर इनके नकारात्मक प्रभाव भी हो सकते हैं, जबकि घरेलू आयुर्वेदिक पदार्थो से बालों को बिना किसी साइड इफेक्ट के प्रकृतिक तरीके से निखारा जा सकता है।

 नजरअंदाज न करें कैल्शियम की कमी को
गेस्ट कॉलम

नजरअंदाज न करें कैल्शियम की कमी को

कैल्शियम मजबूत हड्डियों के लिए जरूरी है, यह रक्त के थक्के (ब्लड क्लॉटिंग) में भी मदद करता है। शिशुओं के शुरुआती विकास और मांसपेशियां बनाने में भी सहायक होता है। कैल्शियम की कमी से कमजोर नाखून, दांत में दर्द, मासिक धर्म दर्द, धड़कन बढ़ना और नाड़ी की समस्याएं हो सकती हैं।

आदिवासियों की संस्कृति सुरक्षित रखने के लिए धर्मान्तरण विरोधी कानून बनाये सरकार : साय  
गेस्ट कॉलम

आदिवासियों की संस्कृति सुरक्षित रखने के लिए धर्मान्तरण विरोधी कानून बनाये सरकार : साय  

देश के विभिन्न हिस्सों में आर्थिक और अन्य तरह के प्रलोभन देकर आदिवासियों का धर्मान्तरण कराए जाने की घटनाओं पर चिंता जताते हुए अनुसूचित जनजाति आयोग के नवनियुक्त अध्यक्ष नंदकुमार साय ने आज कहा कि केंद्र सरकार को इसे रोकने के लिए एक कानून लाना चाहिए और धर्मान्तरित आदिवासियों को मिलने वाली सुविधाएं समाप्त की जानी चाहिए।

‘चप्पलमार सांसद’ : माननीय का अशोभनीय आचरण  
समाचार

‘चप्पलमार सांसद’ : माननीय का अशोभनीय आचरण  

जनता अपने जनप्रतिनिधियों से गरिमापूर्ण व्यवहार की अपेक्षा करती है। लेकिन कुछ सांसद अपने रुतबे के गुरूर में बहक गए हैं। ऐसे बिगड़े सदस्यों को सही रास्ते पर लाने के लिए लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने हाल ही में संसद सत्र के दौरान सभी सदस्यों को कड़ी फटकार लगाई थी और कहा था कि सभी जनप्रतिनिधि जनता से अच्छा व्यवहार स्थापित करें।



‘देश के 70 फीसदी भूमिगत जल का दोहन किया जा चुका है’
समाचार

‘देश के 70 फीसदी भूमिगत जल का दोहन किया जा चुका है’

भारत में 7.6 करोड़ की आबादी को स्वच्छ जल सहज उपलब्ध नहीं है, जो पूरी दुनिया के देशों में स्वच्छ जल से वंचित रहने वाले लोगों की सर्वाधिक आबादी है।



‘बच्चों में मोटापा रोकना जरूरी’
गेस्ट कॉलम

‘बच्चों में मोटापा रोकना जरूरी’

भारत मेटाबॉलिक सिंड्रोम की महामारी का सामना कर रहा है, जिसे पेट का मोटापा, हाईट्रिग्लिसाइड, अच्छे कोलेस्ट्रॉल की कमी, हाई ब्लडप्रेशर और हाई शुगर से मापा जाता है।



पुरुषों के गुर्दे में दोबारा पथरी होने की आशंका ज्यादा
सेहत

पुरुषों के गुर्दे में दोबारा पथरी होने की आशंका ज्यादा

पूरे जीवन में गुर्दे में पथरी होने की आशंका पुरुषों में 13 प्रतिशत और महिलाओं में मात्र 7 प्रतिशत होती है। एक बात यह भी है कि 35 से 50 प्रतिशत लोग, जिन्हें पहले गुर्दे में पथरी हो चुकी है, उन्हें आने वाले पांच साल में दोबारा हो सकती है।



नवंबर में गंगा डॉल्फिन की गिनती शुरु करेगा डब्ल्यूडब्ल्यूएफ
गेस्ट कॉलम

नवंबर में गंगा डॉल्फिन की गिनती शुरु करेगा डब्ल्यूडब्ल्यूएफ

वर्ल्ड वाइड फंड फॉर नेचर (डब्ल्यूडब्ल्यूएफ), कोलकाता ने इस वर्ष की शुरआत में गंगा डॉल्फिन की संख्या में गिरावट देखे जाने के बाद नवंबर में इस संकटग्रस्त प्रजाति की गिनती शुरु करने का निर्णय किया है।



छोटे पर्दे से दूर होने का सवाल ही नहीं उठता : साक्षी तंवर (साक्षात्कार)
गेस्ट कॉलम

छोटे पर्दे से दूर होने का सवाल ही नहीं उठता : साक्षी तंवर (साक्षात्कार)

साक्षी तंवर ने पूरे आत्मविश्वास से आईएएनएस से कहा, “मैंने अपने जीवन के 16 साल टीवी को दिए हैं। मैं जिस मुकाम पर हूं उसे हासलि करने के लिए कड़ी मेहनत की है, तो फिर मुझे इसे क्यों छोड़ देना चाहिए?

आंगन से क्यों गायब हो रही नन्हीं गौरैया (गौरैया संरक्षण दिवस : 20 मार्च)
गेस्ट कॉलम

आंगन से क्यों गायब हो रही नन्हीं गौरैया (गौरैया संरक्षण दिवस : 20 मार्च)

विज्ञान और विकास के बढ़ते कदम ने हमारे सामने कई चुनौतियां भी खड़ी की हैं, जिससे निपटना हमारे लिए आसान नहीं है। विकास की महत्वाकांक्षी इच्छाओं ने हमारे सामने पर्यावरण की विषम स्थिति पैदा की है।



‘संस्कृति उत्सव : उत्तर प्रदेश’ का आयोजन आज से
गेस्ट कॉलम

‘संस्कृति उत्सव : उत्तर प्रदेश’ का आयोजन आज से

उत्तर प्रदेश के संस्कृति विभाग द्वारा 17 से 19 मार्च तक यहां गोमती नगर स्थित संगीत नाटक अकादमी परिसर में ‘संस्कृति उत्सव : उत्तर प्रदेश’ का आयोजन किया जा रहा है। इस उत्सव में प्रदेश की कला एवं संस्कृति के साथ-साथ देश के अन्य राज्यों की कला विधाएं भी प्रस्तुत की जाएंगी।



साहसी महिलाएं हर क्षेत्र में कायम कर रहीं मिसाल
गेस्ट कॉलम

साहसी महिलाएं हर क्षेत्र में कायम कर रहीं मिसाल

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस आठ मार्च को 30 महिलाओं को पुरस्कृत किया। पुरस्कार पाने वालों में नागालैंड की महिला पत्रकार बानो हारालू भी शामिल है, जो नगालैंड में पर्यावरण संरक्षण के लिए काम कर रही है।



वोडाफोन ने 50 प्रेरक महिलाओं को सम्मानित किया
गेस्ट कॉलम

वोडाफोन ने 50 प्रेरक महिलाओं को सम्मानित किया

वोडाफोन फाउंडेशन ने मुश्किलों का बहादुरी से मुकाबला करते हुए कामयाबी हासिल करने वाली 50 महिलाओं को सम्मानित किया और इनकी प्रेरक कहानियों पर आधारित कॉफी टेबल बुक ‘वीमेन ऑफ प्योर वंडर’ का अनावरण किया।



शीतकालीन विशेष ओलंपिक में भारत के लिए ख्याति अर्जित करेंगी दिव्यांग लड़कियां
गेस्ट कॉलम

शीतकालीन विशेष ओलंपिक में भारत के लिए ख्याति अर्जित करेंगी दिव्यांग लड़कियां

एसओएस चिलड्रन विलेज इंडिया की चार दिव्यांग लड़कियां आस्ट्रिया में होने वाले शीतकालीन विशेष ओलम्पिक खेलों भारत का नाम रोशन करने का प्रयास करेंगी।



बुर्का और मतदाता के बीच ‘आधार’ निराधार!
गेस्ट कॉलम

बुर्का और मतदाता के बीच ‘आधार’ निराधार!

डिजिटलाइजेशन, ग्लोबलाइजेशन, डिजिटल पेमेंट यानी एक क्लिक पर सबकुछ पा लेने के इस दौर में बुर्के की ओट में फर्जी मतदान की शिकायत, वह भी देश में सत्तासीन दल की तरफ से!



आदिवासियों की हो गई ब्राह्मण परिवार की बेटी
गेस्ट कॉलम

आदिवासियों की हो गई ब्राह्मण परिवार की बेटी

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले के ब्राह्मण परिवार में जन्मीं शोभा तिवारी (46) की पहचान आज मध्यप्रदेश के डिंडौरी में बैगा आदिवासियों की बेटी के तौर पर है। वह यहां बीते डेढ़ दशक से ज्यादा समय से बैगा आदिवासियों के हितों के लिए संघर्ष कर रही हैं और इस जनजाति में अपने अधिकारों को लेकर जागृति लाने में काफी हद तक सफल भी हुई हैं।

लगातार बढ़ रही हैं बालिका वधुएं, दो लाख से अधिक हैं छत्तीसगढ़ में
गेस्ट कॉलम

लगातार बढ़ रही हैं बालिका वधुएं, दो लाख से अधिक हैं छत्तीसगढ़ में

‘बालिका वधू’ शब्द सुनते ही यों तो राजस्थान और वहां की पृष्ठभूमि पर बना टीवी धारावाहिक याद आ जाता है, लेकिन बाल विवाह पर रोक लगाने के मामले में छत्तीसगढ़ भी काफी पिछड़ा हुआ है।