हैदराबाद (एजेंसी) : चाकलेट को अक्सर स्वास्थय के लिए हानिकारक माना जाता है। लेकिन हाल ही में किये गये एक शोध के मुताबिक, रोजाना चॉकलेट खाने से आपकी सेहत अच्छी हो सकती है।शोधकर्ताओं के मुताबिक, चॉकलेट गुड कॉलेस्ट्रॉल को बढ़ाती है, लेकिन ये फायदा उन्हीं लोगों को होगा जो रोजाना 200 से 600 मिलीग्राम के बीच डार्क चॉकलेट खाते हैं।शोध मे पता चला है कि चॉकलेट खाने से ना सिर्फ दिल की बीमारियों से बच सकते हैं, बल्कि डायबिटीज के मरीजों का ब्लड शुगर और इंसुलिन लेवल भी कम किया जा सकता है। दरअसल, ये फायदा इस पर भी निर्भर करता है कि कोकोआ यानी डार्क चॉकलेट कितनी मात्रा में लिया गया है। प्लेन चॉकलेट, व्हाइट और अन्य मिल्क चॉकलेट से ज्यादा बेहतर होती है.वैज्ञानिकों ने 1139 लोगों को चॉकलेट के 119 फ्लेवर खिलाकर उनकी कार्डियो मेटाबॉलिक हेल्थ की जांच की। कोकोआ फ्लेवैनोल के सेवन से डिस्लिपडेमिया (फर्ड आट्रीज), इंसुलिन रेसिस्टेंस और सिस्टमैटिक इनफ्लैमेशन को कम किया जा सकता है जो कि कार्डियोमेटाबॉलिक डिजीज के फैक्टर हैं।शोध मे इस बात का भी खुलासा हुआ है कि कोकोआ फ्लेवैनोल के सेवन से डिस्लिपडेमिया (फर्ड आट्रीज), इंसुलिन रेसिस्टेंस और सिस्टमैटिक इनफ्लैमेशन को कम किया जा सकता है जो कि कार्डियोमेटाबॉलिक डिजीज के फैक्टर हैं। हर चॉकलेट के लिए जनरलाइज नहीं किया जा सकता क्योंकि बहुत सी कैंडी चॉकलेट्स में शुगर कन्टेंट बहुत ज्यादा होता है जो कि डार्क चॉकलेट से भी ज्यादा होता है।