लॉस एंजिलिस : अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने कहा कि हार्वी वाइनस्टीन जैसे लोग अपवाद नहीं हैं और हर जगह ऐसे बहुत सारे लोग हैं जिनके हाथों महिलाएं यौन शोषण का शिकार बनती हैं।

उन्होंने कहा कि इस तरह के व्यवहार की वजह यौन उत्कंठा नहीं है बल्कि इसकी असली वजह लोगों पर नियंत्रण स्थापित करने की चाहत है।

मेरी क्लैर पत्रिका की खबर के अनुसार 35 साल की अभिनेत्री ने कहा, मुझे नहीं लगता कि केवल एक वाइनस्टीन है। मुझे यह भी नहीं लगता कि हॉलीवुड में एक ही वाइनस्टीन है। ऐसे बहुत सारे पुरुष हैं और ना केवल भारत में बल्कि हर जगह हैं। पुरुष (महिलाओं) से उनकी ताकत छीनने की कोशिश कर रहे हैं।

प्रियंका ने 2017 मैरी क्लैर पावर ट्रिप में एक चर्चा के दौरान ऐन फूलवाइडर से कहा, यह केवल यौन संबंधों की चाहत नहीं है, इसका असल में ताकत से लेना देना है। इसका लेना देना एक महिला को उसकी जगह दिखाने से है। लंबे समय से महिलाओं को सुनाया जाता रहा है कि हममें से केवल एक ही बनी रहेगी। सर्वश्रेष्ठ लड़की को ही काम मिलेगा। लेकिन इसे अब और बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। उन्होंने फिल्म जगत को बिग ब्यॉज क्लब (प्रमुख पुरुषों का समूह) बताया जहां महिलाएं हमेशा इस आशंका में जीती हैं कि एक भी गलत कदम उनके करियर के लिए महंगा साबित हो सकता है।

अभिनेत्री ने कहा, फिल्म जगत में अगर आप किसी के अहं को चोट पहुंचाते हैं तो आपके सामने खतरा पैदा होगा कि आपको वह फिल्म नहीं मिलेगी। या यह बिग ब्यॉज क्लब साथ आ जाएगा और आपका बहिष्कार करेगा।

क्वांटिको स्टार ने कहा, इसलिए एक महिला के तौर पर आपको लगता है कि आप अकेली हैं, कि आपका काम प्रभावित हो सकता है क्योंकि यह क्लब यह सब कर सकता है। यह किसी को अलग थलग करना है। किसी महिला से सबसे आसान जो चीज छीनना है, वह उसका काम है।