मुंबई : जानेमाने फिल्मकार श्याम बेनेगल ने उम्मीद जताई है कि केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) के अध्यक्ष के तौर पर प्रसून जोशी की नियुक्ति से चीजें बेहतर होंगी।

सीबीएफसी के कामकाज में सुधार के लिए सरकार ने वर्ष 2016 में एक समिति का गठन किया था जिसका अध्यक्ष बेनेगल को बनाया गया था।

प्रसून ने पहलाज निहलानी की जगह ली है जिन्हें जनवरी 2015 में नियुक्त किया गया था। तभी से निहलानी अपने विवादित फैसलों और वक्तव्यों के जरिए सुखर्यिों में बने रहे।

बेनेगल से पूछा गया कि प्रसून की सीबीएफसी के नए प्रमुख के रुप में नियुक्ति से क्या फिल्मकारों को राहत मिलेगी, तो उन्होंने कहा कि, ' 'प्रसून खुद एक कलाकार हैं। वह उच्च दर्जे के कवि हैं जिन्हें मीडिया की खासी समझ है। ' '

उन्होंने कहा, ' 'वह भारत की सर्वश्रेष्ठ विज्ञापन एजेंसी के प्रमुख थे, वह जन मीडिया, सिनेमा, टेलीविजन और प्रेस को अच्छी तरह समझते हैं। मैं नहीं सोच सकता कि उनसे अच्छा विकल्प क्या हो सकता था। ' ' फिल्मकारों ने सेंसर बोर्ड पर अकसर मनमानी आपत्तियों और कट की शिकायतें की हैं।