Fri Feb 24, 2017 Telugu English E-Paper Education
ब्रेकिंग न्यूज़
तेलंगाना : शिवरात्री के पर्व पर गोदावरी नदी में स्नान करने गए 8 लोगों की मौत
105 रनों पर भारत आल आउट, ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी शुरू, ताज़ा स्कोर19/1
अमेरिका के एक बार में एक भारतीय की गोली मारकर हत्या, मृतक श्रीनिवास हैदराबादी थे
जनता सपा और बसपा से ऊब चुकी है: योगी आदित्यनाथ  
DMK नेता एमके स्टालिन आज दिल्ली में राहुल गांधी से मुलाकात करेंगे  

संपादक की पसंद



बहुत याद आएगा ‘वर्दीवाला गुंडा’
संपादक की पसंद

बहुत याद आएगा ‘वर्दीवाला गुंडा’

वेद प्रकाश शर्मा यानी वेद इस दुनिया में नहीं रहे। एक शख्सियत अलविदा हो गई। अब उनकी स्मृति शेष है। जिंदगी की जंग में वह हार गए। लेकिन कलम के इस योद्धा की उपलब्धियां हमारे एक पीढ़ी के बीच आज भी कायम हैं।



उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव: बुंदेलखंड में आधी आबादी पर सियासत भारी
राजनीति

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव: बुंदेलखंड में आधी आबादी पर सियासत भारी

हर राजनीतिक दल महिलाओं को लेकर संजीदा होने की बात करता है, हकदार और हिस्सेदारी के नारे भी बुलंद करता है, मगर जब उसे राजनीतिक तौर पर सशक्त बनाने की बात आती है तो उस तरफ से आंखें मूंद लेता है।

बागी उम्मीदवार तय करेंगे उत्तराखंड चुनावों के नतीजे
राजनीति

बागी उम्मीदवार तय करेंगे उत्तराखंड चुनावों के नतीजे

सोमवार शाम को उत्तराखंड में चुनावी शोर थम गया। इस पहाड़ी राज्य के चुनावी समीकरणों के देखने से लगता है कि बागी उम्मीदवारों की ताकत ही दो राष्ट्रीय दलों के भाग्य का फ़ैसला तय करने वाली है।



नर्मदा के लिए ‘गांधी मॉडल’ की जरूरत : राजगोपाल (साक्षात्कार)
संपादक की पसंद

नर्मदा के लिए ‘गांधी मॉडल’ की जरूरत : राजगोपाल (साक्षात्कार)

एकता परिषद के संस्थापक पी.वी. राजगोपाल मध्यप्रदेश सरकार की ‘नमामि देवी नर्मदे’ सेवा यात्रा को नर्मदा नदी को प्रदूषण मुक्ति के लिए ‘गांधी मॉडल’ की जरूरत है।



TDP नेताओं के खिलाफ महिलाओं पर अत्याचार की लंबी है फेहरिस्त
समाचार

TDP नेताओं के खिलाफ महिलाओं पर अत्याचार की लंबी है फेहरिस्त

YSRCP विधायक रोजा को महिला संसद में शिरकत करने से रोकने वाली बाबू सरकार की पुलिस और उनके नेताओं के खिलाफ महिला अत्याचार की फेहरिस्त काफी लंबी है।



संविधान के खिलाफ है फतवों की राजनीति
संपादक की पसंद

संविधान के खिलाफ है फतवों की राजनीति

भाजपा ने एक भी मुसलमान को टिकट नहीं दिया है। जिस पर पार्टी के स्लोगन सबका साथ सबका विकास पर तीखी टिप्पणियां भी हुई, लेकिन उसका एक निर्धारित एजेंडा है, जिस पर चलने का फैसला किया।



उप्र चुनाव : एक-तिहाई मतदाताओं के लिए बिजली कटौती प्रमुख मुद्दा
राजनीति

उप्र चुनाव : एक-तिहाई मतदाताओं के लिए बिजली कटौती प्रमुख मुद्दा

उत्तर प्रदेश के चुनावी सर्वेक्षण में शामिल करीब एक-तिहाई मतदाताओं ने कहा कि बिजली कटौती प्रदेश में सबसे बड़ी समस्या है। आंकड़ा विश्लेषक कंपनी फोर्थलायन टेक्नोलॉजीज द्वारा इंडियास्पेंड के लिए किए गए एक सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है।

पश्चिमी यूपी में जाटों की ‘घर वापसी’
राजनीति

पश्चिमी यूपी में जाटों की ‘घर वापसी’

“अजितसिंह को बेइज्ज़त किया है पार्टी ने, जाट समाज इससे आहत है” - यह टिप्पणी अलीगढ़ जिले के इगलास गांव में जाटों के एक समूह की थी। यह एक वाक्य हमें पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जाटों की मानसिकता से रूबरू करवाता है।

जानिए 6 जून को रिलीज़ होने वाले अरुंधति राय के दूसरे उपन्यास में क्या खास होगा?
समाचार

जानिए 6 जून को रिलीज़ होने वाले अरुंधति राय के दूसरे उपन्यास में क्या खास होगा?

प्रख्यात लेखिका और कार्यकर्ता अरुंधति राय का दूसरा उपन्यास ‘द मिनिस्ट्री ऑफ अट्मोस्ट हैप्पिनेस’ इस साल 6 जून को रिलीज़ होने वाला है।

यूपी चुनाव : सबकी नज़र अब सरधना पर
राजनीति

यूपी चुनाव : सबकी नज़र अब सरधना पर

जिस मेरठ क्षेत्र में सन् 1857 में औपनिवेशक राजसत्ता के खिलाफ मंगल पांडे की अगुवाई में विद्रोह का बिगुल बजा था, उस क्षेत्र में आज भाजपा, सपा-कांग्रेस गठबंधन और बसपा के बीच एक कड़ा संघर्ष जारी है।

क्या पंजाब में छुपा रुस्तम साबित होगी ‘आप’?
राजनीति

क्या पंजाब में छुपा रुस्तम साबित होगी ‘आप’?

भारत के सबसे धनी राज्य पंजाब में 4 फरवरी को वोट डाले जाएंगे। गुरुवार को समाप्त चुनाव प्रचार कई मायनों में अभूतपूर्व कहा जा सकता है।



मथुरा में डेढ़ दशक से भाजपा को जीत का इंतजार
संपादक की पसंद

मथुरा में डेढ़ दशक से भाजपा को जीत का इंतजार

मथुरा संसदीय क्षेत्र की पांच विधानसभा सीटों पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को पिछले 15 वर्षो से जीत नहीं मिली है, जबकि कांग्रेस के दिग्गज नेता प्रदीप माथुर लगातार 15 वर्षो से मथुरा से विधायक हैं जो विपक्ष के लिए सबसे बड़ी चुनौती हैं।

आगरा-मथुरा बेल्ट में कमल फिर कर सकता है कमाल
राजनीति

आगरा-मथुरा बेल्ट में कमल फिर कर सकता है कमाल

श्री कृष्ण की जन्मभूमि और राजा कंस की राजधानी मथुरा इस बार के चुनावों में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ खड़ा दिख रहा है। 2014 में इस क्षेत्र के सभी जाति व धर्म के लोगों ने भाजपा को बड़े पैमाने पर वोट दिए थे।

अमेरिका में चारों ओर गूंज रहे हैं विरोध के स्वर
समाचार

अमेरिका में चारों ओर गूंज रहे हैं विरोध के स्वर

अमेरिका के नव निर्वाचित राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की नीतियों के खिलाफ देश में चारों तरफ लोगों के व्यापक विरोध प्रदर्शनों का सिलसिला जारी है।



उप्र चुनाव : ‘लोकतांत्रिक गुलाबी गैंग’ कांग्रेस से है खफा लेना है
संपादक की पसंद

उप्र चुनाव : ‘लोकतांत्रिक गुलाबी गैंग’ कांग्रेस से है खफा लेना है

उत्तर प्रदेश में चित्रकूट जिले के मानिकपुर सीट से दोबारा संपत पाल को टिकट दिए जाने से ‘लोकतांत्रिक गुलाबी गैंग’ कांग्रेस से काफी नाराज हैं।



नर्मदा किनारे शराब के खिलाफ  जारी है कृष्णा की जंग!
संपादक की पसंद

नर्मदा किनारे शराब के खिलाफ जारी है कृष्णा की जंग!

होशंगाबाद (संदीप पौराणिक): मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भले ही नर्मदा नदी के किनारे शराब की दुकानें बंद कर नई दुकानें न खोलने का ऐलान किया हो, मगर होशंगाबाद जिले के डोंगरवाड़ा गांव में कृष्णा बाई (55) शराब के खिलाफ कई वर्षो से जंग लड़ रही हैं।



2017 में रियल्टी कारोबार : खरीदारों की होगी बल्ले-बल्ले
संपादक की पसंद

2017 में रियल्टी कारोबार : खरीदारों की होगी बल्ले-बल्ले

हम ऐसे दिलचस्प दौर में हैं, जब रियल एस्टेट उद्योग एक बार फिर मंदी के बाद उठ खड़ा हो रहा है। इस उद्योग में नियामकीय हस्तक्षेप से यह अनियमित, असंगठित और विखंडित क्षेत्र से एक संगठित, उम्मीद के मुताबिक, विनियमित क्षेत्र में बदल रहा है।

क्या इंदिरा गांधी के दौर में कांग्रेस को सोवियत संघ से पैसा मिला था?
समाचार

क्या इंदिरा गांधी के दौर में कांग्रेस को सोवियत संघ से पैसा मिला था?

इंदिरा गांधी के दौर में सोवियत संघ ने कांग्रेस पार्टी और उसके नेताओं को अवैध तरीके से रकम दी थी। अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के पुराने गोपनीय दस्तावेजों को हाल ही में सार्वजनिक किए जाने से यह खुलासा हुआ है।



ट्रंप युग में अंतर्राष्ट्रीय परिदृश्य
संपादक की पसंद

ट्रंप युग में अंतर्राष्ट्रीय परिदृश्य

क्या डोनाल्ड ट्रंप अंतर्राष्ट्रीय परिदृश्य बदल पाएंगे? क्या सभी की उम्मीदों पर खरा उतर पाएंगे? इस तरह के तमाम सवाल ट्रंप की ताजपोशी के बाद से लगाए जा रहे हैं। उन्होंने अपनी जीत में भारतीयों के योगदान की सराहना की है।



बिहार : शराब कारोबारियों ने बदला व्यापार, मिल रहा मान-सम्मान
संपादक की पसंद

बिहार : शराब कारोबारियों ने बदला व्यापार, मिल रहा मान-सम्मान

बिहार के लोगों ने शराबबंदी के समर्थन में शनिवार को राज्य के 11 हजार किलोमीटर से ज्यादा लंबी बनी मानव श्रृंखला बनाकर भले ही इतिहास रच दिया हुआ हो, मगर शराबबंदी का सबसे ज्यादा लाभ (सामजिक तौर पर) इस धंधे से जुड़े लोगों को हुआ है।



बुंदेलखंड : ‘लाल सलाम’ की सियासी जमीन पर ‘जय भीम’ का कब्जा
संपादक की पसंद

बुंदेलखंड : ‘लाल सलाम’ की सियासी जमीन पर ‘जय भीम’ का कब्जा

उत्तर प्रदेश के हिस्से वाले बुंदेलखंड की सियासी जमीन पर तीन दशक तक ‘लाल सलाम’ यानी वामपंथ का डंका बजता रहा है, इस दौरान यहां बारह विधायक और दो सांसद चुने गए। लेकिन, नब्बे के दशक के बाद बसपा के ‘जय भीम’ ने वामपंथियों का यह मजबूत किला ढहा दिया।



उप्र चुनाव : कांग्रेस सीटों के अर्धशतक  से 6 बार चूकी
उत्तर प्रदेश

उप्र चुनाव : कांग्रेस सीटों के अर्धशतक से 6 बार चूकी

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) से गठबंधन की आस लगाए बैठी कांग्रेस देश के इस सबसे बड़े सियासी राज्य में अपने लिए ‘संजीवनी’ की तलाश कर रही है। पिछले छह विधानसभा चुनावों पर नजर डालें तो कांग्रेस सीटों का अर्धशतक भी नहीं लगा पाई।



यूपी चुनाव में सियासी मार्केटिंग चरम पर
राजनीति

यूपी चुनाव में सियासी मार्केटिंग चरम पर

सियासी रणनीति के तहत उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों के मद्देनजर बड़े पैमाने पर विज्ञापनों का खेल जारी है। इसके लिए बकायदा इलेक्शन मैनजरों की सेवाएं ली जा रही है।

जानते हैं साशा ओबामा उस वक्त कहां थी, जब उनके पिता विदाई भाषण दे रहे थे?
समाचार

जानते हैं साशा ओबामा उस वक्त कहां थी, जब उनके पिता विदाई भाषण दे रहे थे?

शिकागो के मैककॉर्मिक प्लेस कन्वेशन सेंटर में जब निवृत्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति विदाई भाषण दे रहे थे उस वक्त उनकी छोटी बिटिया नताशा ‘साशा’ ओबामा वहां नहीं थी। यह उनके कार्यकाल की समाप्ति वाला भाषण था और वहां उनके परिवार के सारे सदस्य मौजूद थे, सिवाए साशा के।

क्या बुंदेलखंड से चुनाव लड़कर अखिलेश नया इतिहास रचेंगे?
राजनीति

क्या बुंदेलखंड से चुनाव लड़कर अखिलेश नया इतिहास रचेंगे?

समाजवादी पार्टी (सपा) के अंदर चल रही भारी उथल-पुथल के बीच ही मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इशारा किया है कि वो आगामी चुनावों में बुंदेलखंड क्षेत्र से लड़ सकते हैं।

अमेरिका की तरकश में एक और घातक हथियार - पेर्डिक्स माइक्रो-ड्रोन सेना
समाचार

अमेरिका की तरकश में एक और घातक हथियार - पेर्डिक्स माइक्रो-ड्रोन सेना

अमेरिकी रक्षा विभाग ने हाल ही में झुंडों के रूप में उड़ने वाले माइक्रो-ड्रोन का सफलतापूर्वक परीक्षण किया। कैलिफोर्निया के चाइना लेक में किए गए इनके परीक्षण को पिछले रविवार सीबीएस न्यूज़ प्रोग्राम में दिखाया गया।



बस्तर में पहली महिला सीआरपीएफ अधिकारी ने संभाली कमान
समाचार

बस्तर में पहली महिला सीआरपीएफ अधिकारी ने संभाली कमान

नक्सल प्रभावित बस्तर में पहली बार सीआरपीएफ बटालियन-80 में किसी महिला असिसटेंट कमांडेंट ने कार्यभार संभाला है। उषा किरण की यहां पदस्थापना से सुरक्षा बलों का मनोबल एवं आत्मविश्वास बढ़ा है।

UP के पिछड़े वर्ग के इन वोटरों के हाथ में होगी ‘सत्ता की चाबी’
संपादक की पसंद

UP के पिछड़े वर्ग के इन वोटरों के हाथ में होगी ‘सत्ता की चाबी’

उत्तर प्रदेश की राजनीति में वैसे तो जातीय समीकरण हमेशा अहम रहे हैं, लेकिन बात जब ओबीसी की आती है तो यादव को छोड़कर अन्य जाति कहीं अलग खड़ी नजर आती है।

बसपा के दलित वोटों में सेंध लगाने की कोशिश में अन्य दल, अपना रहे नए फार्मूले
संपादक की पसंद

बसपा के दलित वोटों में सेंध लगाने की कोशिश में अन्य दल, अपना रहे नए फार्मूले

आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में राज्य की कुल आबादी का लगभग 20 प्रतिशत आबादी वाले दलित मतदाता वर्तमान परिवेश में बहुजन समाज पार्टी के साथ खड़े नजर आ रहे हैं। विकास के इतर पार्टी के सिद्धांत और जाति की राजनीति उत्तर प्रदेश में पिछले लंबे समय से दिखती रही है। यहां के अधिकतर राजनैतिक दल इसका लाभ लेते रहे हैं। 

क्या वैज्ञानिक साइंस कांग्रेस में भाग लेने आए हैं या बालाजी का दर्शन करने?
समाचार

क्या वैज्ञानिक साइंस कांग्रेस में भाग लेने आए हैं या बालाजी का दर्शन करने?

लगता है पिछली दो बार की तरह इस बार भी भारतीय साइंस कांग्रेस विवादों से मुक्त नहीं रह पाएगी। बता दें कि आंध्रप्रदेश के तिरुपति शहर में पांच दिनों तक चलने वाले इस सम्मेलन का विधिवत् उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज, मंगलवार को किया।



धर्म-जाति के चुनावी इस्तेमाल के खिलाफ फैसले को धार्मिक समूहों ने सराहा
राजनीति

धर्म-जाति के चुनावी इस्तेमाल के खिलाफ फैसले को धार्मिक समूहों ने सराहा

राजनीतिक पार्टियों द्वारा धर्म, जाति, समुदाय, नस्ल या भाषा के नाम पर वोट मांगने पर सर्वोच्च न्यायालय के रोक लगाने के सोमवार के फैसले का देश भर के तमाम धार्मिक संगठनों ने स्वागत किया है।



महिलाएं अब शराब ठेकों पर धावा बोलकर तालाबंदी करेंगी : लाल मिर्ची
समाचार

महिलाएं अब शराब ठेकों पर धावा बोलकर तालाबंदी करेंगी : लाल मिर्ची

उत्तर प्रदेश के हिस्से वाले बुंदेलखंड में ‘लाल मिर्ची’ के नाम से चर्चित वर्षा भारतीय ने रविवार को कहा कि उनका संगठन शराबबंदी की मांग को लेकर नए साल में एक बड़ा आंदोलन शुरू करने की रणनीति बना रहा है।



हवाई सेवा में क्या है भारत की हैसियत: आलेख
समाचार

हवाई सेवा में क्या है भारत की हैसियत: आलेख

विमानन क्षेत्र में भारत आज भी दूसरे देशों से काफी पीछे है। नए विमानन नियम, नई सहूलियतें, आधुनिक तामझाम, यात्रा में सुगमता की गारंटी और कई कागजी बातें उस समय धरी की धरी रह जाती हैं, जब विमान के उड़ने से पहले अव्यवस्था की चपेट में आ जाता है।

साल 2016 में सर्वाधिक शिकार, लेकिन बाघों की संख्या में इजाफा
समाचार

साल 2016 में सर्वाधिक शिकार, लेकिन बाघों की संख्या में इजाफा

दुनिया भर में वन्यजीवों के शिकार को लेकर पर्यावरणविद् गंभीर चिंता जता चुके हैं, लेकिन इस पर अभी तक पूरी तरह नकेल नहीं कसी जा सकी है। पारिस्थितिकी तंत्र पर इसका प्रतिकूल प्रभाव जगजाहिर होने के बाद भी धड़ल्ले से जंगली जानवरों का शिकार जारी है।

माओवादियों ने बंदूक उठाकर और  कम्युनिस्टों ने चुनाव में भाग लेकर गलत किया है: माकपा
तेलंगाना राजनीति

माओवादियों ने बंदूक उठाकर और कम्युनिस्टों ने चुनाव में भाग लेकर गलत किया है: माकपा

माओवादियों ने बंदूक पकड़कर गलती की है, तो कम्युनिस्टों ने चुनावी प्रक्रिया में भाग लेकर गलत किया है। कांग्रेस व तेलुगु देशम चोरों की पार्टियाँ हैं। इन पार्टियों की तुलना में तेलंगाना राष्ट्र समिति कुछ कम नहीं है।



कितने बुरे हैं आपके बॉस?
जीवन शैली

कितने बुरे हैं आपके बॉस?

बुरे बॉस अपने कर्मचारियों के तनाव को बढ़ाने में खास भूमिका निभाते हैं। यह दो तरह के हो सकते हैं ‘खराब’ जिनका व्यवहार विनाशकारी होता है या ‘बेकार’ जो अपने कार्य में खुद ही बहुत अच्छे नहीं होते।



बिहार के एक गांव में अनोखा ‘रेसीडेंसी’
संपादक की पसंद

बिहार के एक गांव में अनोखा ‘रेसीडेंसी’

बिहार के पूर्णिया जिला मुख्यालय से 25 किलोमीटर दूर एक सुदूरवर्ती गांव चनका इन दिनों ‘रेसीडेंसी’ के कारण सुर्खियों में है। इस रेसीडेंसी का नाम ‘चनका रेसीडेंसी’ रखा गया है।



ढाई साल की उम्र में ही बच्चों को सच-झूठ की होती है परख
संपादक की पसंद

ढाई साल की उम्र में ही बच्चों को सच-झूठ की होती है परख

एक नए अध्ययन में कहा गया है कि ढाई साल के बच्चे दूसरे की झूठी बातों को समझ सकते हैं। वे लोगों के झूठ बोलने, धोखेबाजी और बहानेबाजी को पहचान लेते हैं।