जयपुर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सात जुलाई को शुरू की गई एक केंद्रीय कल्याण योजना की एक महिला लाभार्थी उसी दिन राष्ट्रीय राजमार्ग-8 पर मृत पाई गई। अधिकारियों ने बुधवार को इस बात की जानकारी दी।

डूंगरपुर जिले के कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने कहा कि डूंगरपुर की रहने वाली नंदी बाई सात जुलाई को प्रधानमंत्री के जन संवाद कार्यक्रम में उपस्थित होने के लिए आई थी। उन्होंने कहा कि नंदी बाई कथित रूप से बस के जरिए जयपुर से वापस लौट रही थी। उसे प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 1.5 लाख रुपये की केंद्रीय सहायता मिली थी।

इसे भी पढ़ें

तानों से तंग आकर महिला ने दाल में मिलाया जहर, पांच की मौत

भट्ट ने कहा, "हम इस बात को लेकर आश्वस्त नहीं हैं कि उसकी मौत दुर्घटना में हुई। उसका बेटा, देवर और देवर का बेटा उसके साथ थे। उनके मुताबिक, बस भोजन के लिए एक ढाबे पर रुकी। हालांकि महिला का शव 48 किलोमीटर आगे मिला, जिससे कई सवाल खड़े होते हैं।"

भट्ट ने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया ने शोकसंतप्त परिवार के लिए दो लाख रुपये की अनुग्रह राशि की घोषणा की है।

इसे भी पढ़ें

दहेज प्रताड़ना से तंग महिला ने की आत्महत्या, आग की चपेट में आने से बच्ची की भी मौत

डूंगरपुर थाने के प्रभारी बृजेश कुमार ने कहा कि मृतका के बेटे लक्ष्मण सिंह ने नौ जुलाई को अपनी मां के लापता होने की शिकायत दर्ज कराई थी। अजमेर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

अजमेर के पुलिस अधीक्षक राजेंद्र सिंह ने कहा, "पुलिस को सात जुलाई को एनएच-8 पर एक शव मिला था और मृतका की पहचान के लिए जांच शुरू की गई थी। 10 जुलाई को उसके बेटा लक्ष्मण सिंह ने हमसे संपर्क किया और शव की पहचान की। हमने पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिवार को सौंप दिया। मामला दर्ज कर जांच की जा रही है।"