कल्वाकुर्ति(तेलंगाना): नागर कर्नूल जिले के वेल्दंडा मंडल में एसआई द्वारा पिटाई किये जाने से अपमानित एक व्यक्ति ने आत्महत्या कर ली। आत्महत्या करने से पहले पीडित ने अपने साथ हुई ज्यादती का जिक्र करने के साथ ही पुलिस के रवैये पर सवाल उठाते हुए एक सेल्फी वीडियो निकाली है।

उसने कहा है कि पहले उसकी पत्नी के गांव वालों ने उसकी पिटाई और बाद में पुलिस ने कपड़े उतरवा कर उसकी पिटाई कर दी। व्यक्ति ने एसआई सैदाबाबू को उसकी मौत के लिये जिम्मेदार बताया है। अपनी आत्महत्या की खबर और वीडियो तेलंगाना के सीएम के. चंद्रशेखर राव, आंध्र प्रदेश के सीएम नारा चंद्रबाबू नायडू तथा पीएम नरेंद्र मोदी तक पहुंचने तक शेयर करने की अपील करते हुए ली गई सेल्फी वीडियो को नेटिजन जमकर शेयर कर रहे हैं।

आखिर हुआ क्या

वेल्दंडा मंडल की परिधि स्थित नारायणपुर तांडा निवासी पात्लवत राजू (25) का पांच साल पहले रंगारेड्डी जिले के तलकोंडपल्ली मंडल के गट्टीइप्पलपल्ली ग्राम पंचायत की परिधि में कोरिंतकुटा तांडा निवासी अंजली के साथ विवाह हुआ था।

उनका पहले से एक बेटा है और अंजली ने हाल ही में एक बेटी को जन्म दिया है। तब से दंपत्ति के बीच झगड़ा हो रहा था। इसी क्रम में इस महीने की 12 तारीख को तलकोंडपल्ली थाने में अंजली और उसके मायकेवालों ने राजू के खिलाफ शिकायत की, तो पुलिस ने उसे थाने बुलाया और काउंसलिंग कर भेज दिया।

परंतु काउंसलिंग के नाम पर पुलिस द्वारा दी गई यातनाओं से आहत राजू सीधे अपना घर पहुंचा और कीटनाशक पी गया। अड़ोस-पड़ोस के लोग राजू तडपते देख उसे तुरंत हैदराबाद के उस्मानिया अस्पताल ले गए, जहां इलाज के दौरान सोमवार रात उसकी मौत हो गई। गांव वालों का कहना हा के एसआई द्वारा सरेआम पिटाई किये जाने से अपमानित राजू ने आत्महत्या कर ली है।

इस बीच, एसआई सैदाबाबू ने कहा कि राजू हर दिन शराब की नशे में घर पहुंच कर पत्नी अंजली सहित उसके परिजनों के साथ लड़ाई झगड़ करता था। तांडा के लोग ही पहले राजू की पिटई कर थाने लेकर आये थे। उस रात दोनों राजू और अंजली घर चले गये और अगले दिन सुबह वापस थाने पहुंचे। इस पर तांडा के बड़े लोगों की मौजूदगी में दोनों की काउंसलिंग कर भेज दिया गया। एसआई सैदाबाबू ने बताया कि उन्होंने और थाने के किसी भी कर्मचारी ने राजू की पिटाई नहीं की है।