हैदराबाद : टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड की 'स्मार्ट सिटीज बिजनेस यूनिट' को छत्तीसगढ़ में 3,057 करोड़ रुपये के भारत नेट प्रोजेक्ट का ठेका मिला है।

हैदराबाद मुख्यालय वाली इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी ने गुरुवार को कहा कि इस प्रोजेक्ट में ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क बिछाने के बाद इंटरनेट प्रोटोकॉल-मल्टी प्रोटोकॉल लेबल स्विचिंग (आईपी-एमपीएलएस) प्रौद्योगिकी के साथ रिंग आर्किटेक्चर का प्रावधान है।

ये भी पढ़े : टाटा मोटर्स बढ़ायेगा यात्री वाहनों के दाम

प्रोजेक्ट के कार्यान्वयन की अवधि काम शुरू करने से 12 महीने तक है। डिजिटल इंडिया पहल की प्रकल्पित प्रोजेक्ट में राज्य के 27 जिलों के 85 ब्लॉक और 5,987 ग्राम पंचायतें शामिल होंगी जहां ब्रॉडबैंड और मोबाइल फोन संपर्क की सुविधा प्रदान की जाएगी।

कंपनी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सबसे कम 29 फीसदी मोबाइल नेटवर्क है जबकि इसका राष्ट्रीय औसत 72 फीसदी है। प्रदेश के करीब 2.6 करोड़ लोगों को इससे सीधा लाभ मिलेगा।

ये भी पढ़े : टाटा मोटर्स की कुल बिक्री 52.48% बढ़ी

टाटा प्रोजेक्ट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक विनायक देशपांडे ने कहा कि एक इस प्रोजेक्ट के पूरा होने से छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने में मदद मिलेगी और लोगों की जिंदगी सुगम बन जाएगी।