नई दिल्ली : सहारा ने 30 संपत्ति की बिक्री के लिए बोली सीमा 20 मई तक के लिए बढ़ा दी थी। इसके बाद भी बोली लगाने वाली कंपनियों ने संपत्तियों की जांच-पड़ताल के लिए कुछ और समय मांगा है।

चर्चा है कि जल्दी ही सहारा समूह की 30 संपत्तियों की नीलामी मैं देश की जानी-मानी बड़ी कंपनियों के साथ-साथ बाबा रामदेव की पतंजलि ने भी दिलचस्पी दिखाई है। कहा जा रहा है कि टाटा, गोदरेज, अदानी, पतंजलि जैसी बड़ी-बड़ी कंपनियों ने सहारा की प्रॉपर्टी खरीदने में दिलचस्पी दिखाई है। जल्द ही सहारा समूह के लगभग 7400 करोड़ की परिसंपत्तियों को नीलाम किया जाएगा। इन संपत्तियों में अधिकांश जमीन के टुकड़े हैं, जिनकी नीलामी रियल एस्टेट कंसल्टेंट्स नाइट फ्रैंक इंडिया के द्वारा की जा रही है।

यह भी पढ़ें : ‘सहारा पैसे जमा कराने में नाकाम, एंबी वैली की नीलामी जारी रहेगी’

इस मामले से जुड़े लोगों का कहना है कि कई रियल एस्टेट डेवलपर कंपनियां इसमें अपनी रुचि दिखा रहीं हैं, जिनमें ओमेक्स, एल्डिको जैसे नाम शामिल हैं। उसके साथ ही साथ इंडियन आयल भी इसकी कुछ जमीन को लेना चाहता है।

कहा जा रहा है कि चेन्नई स्थित अपोलो हॉस्पिटल की नजर लखनऊ में स्थित सहारा हॉस्पिटल को खरीदने पर है। आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुसार सहारा समूह को पैसा जुटाने के लिए इन संपत्तियों को नीलाम करना पड़ रहा है।

जानकारी के अनुसार, जो संपत्ति का नीलाम की जानी हैं वह फिलहाल दिल्ली, पुणे, इंदौर, भोपाल, लखनऊ, गुना, हरिद्वार, अलीगढ़, बरेली, फरीदाबाद, गुवाहाटी, झांसी, कानपुर, ग्रेटर नोएडा, पटना, पोरबंदर जैसे तमाम शहरों में मौजूद हैं।